शहीद अवनीश का शव पहुंचा दानापुर, नहीं पहुंचे बिहार सरकार के प्रतिनिधि

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार के निवासी कैप्टन अवनीश कुमार सिंह सियाचिन ग्लेशियर में तैनात थे. जहां भारत के वीर लाल कैप्टन अवनीश शहीद हो गए. आज शहीद अवनीश का शव पटना के दानापुर में लाया गया. जहां भारतीय सेना के जवानों ने उन्हें सलामी दी. लेकिन सलामी देते समय बिहार सरकार का कोई भी प्रतिनिधि उपस्थित नहीं रहा. सरकार के इस कदम से शहीद परिवार और ग्रामीणों में काफी आक्रोश देखा गया. परिजनों को कहना है कि शहीद होने के बाद भी नीतीश सरकार को उन्हें उचित सम्मान और अधिकार देने का समय नहीं है.

शहीद कैप्टन अवनीश कुमार सिंह के परिजनों ने कहा कि उन्हें उम्मीद थी कि प्रदेश सरकार का कोई प्रतिनिधि इस मौके पर जरूर मौजूद होगा. लेकिन सरकार के पास शहीदों के लिए समय ही नहीं हैं.

22 हजार फीट की उंचाई पर तैनात थे अवनीश

इस मौके पर सेना के अधिकारी ने मीडिया को बताया कि कैप्टन अवनीश कुमार सिंह सियाचिन ग्लेशियर में तैनात थे. सियाचिन समुंद्र तल से 22 हजार फीट की उंचाई पर है. जहां ज्यादा ठंड की वजह से अचानक उनकी तबीयत खराब हो गई. ज्यादा ठंड होने की वजह से सियाचिन में मांसपेशियों और कई अंगों पर प्रभाव पड़ता है. हालांकि डॉक्टरों की 5 दिन की कोशिशों के बावजूद उनकी जान नहीं बच सकी.

पहले भी हुआ है गलती

आपको बता दें कि इससे पहले श्रीनगर के करन नगर में हुए सीआरपीएफ कैंप पर हमले में मोजाहिद खान की शहादत हुई थी. शहीद जवान के सलामी में भी राज्य सरकार से और जिले के वरिष्ठ अधिकारियों में से कोई भी श्रद्धाजंलि देने नहीं पहुंचा था. शहीद सीआरपीएफ जवान के परिजन भी बिहार सरकार से नाखुश हो गए थे.

शहीद के परिजन बिहार सरकार द्वारा घोषित 5 लाख मुआवजा लेने से इंकार कर दिया था. उन्होंने कहा सरकार शहादत के साथ मजाक कर रही है. शहीद के भाई ने कहा, ‘मेरा भाई शराब पीकर नहीं मरा हैं बल्कि देश के लिए कुर्बान हुआ है.’

About परमबीर सिंह 2225 Articles
राजनीति, क्राइम और खेलकूद....

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*