मुजफ्फरपुर : घूसखोर पुलिसकर्मी गिरफ्तार, 5 हजार के लिए लग गयी हथकड़ी

लाइव सिटीज डेस्क : सूबे में रिश्वतखोर अफसरों की कमी नहीं है. छापेमारी में निगरानी विभाग को लगातार सफलता मिल रही है. एक बार फिर शुक्रवार को निगरानी ने एक घूसखोर पुलिसकर्मी को गिरफ्तार किया है. यह सफलता उसे मुजफ्फरपुर में मिली है.

बताया जाता है कि मुजफ्फरपुर के साहेबगंज थाना में तैनात पुलिसकर्मी एएसआई बसंत कुमार को निगरानी की टीम ने घूस लेते हुए रंगेहाथ पकड़ा है. पटना से गयी निगरानी की टीम ने शुक्रवार को साहेबगंज में एएसआई बसंत कुमार रजक को घूस लेते दबोचा.

बताया जाता है कि साहेबगंज थाना क्षेत्र पकड़ी पसारत गांव में 16 जनवरी 2017 को नंदकिशोर का किसी ग्रामीण से भूमि विवाद हुआ था. इस दौरान जमकर मारपीट भी हुई थी. मामले की जांच के लिए बसंत रजक आइओ बनाये गये थे. एएसआई आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए पैसे मांग रहे थे. 5 हजार रुपये लेकर जांच आगे बढ़ाने की बात हुई. इसी बीच पीड़ित ने इसकी शिकायत निगरानी में कर दी.

शिकायत के बाद निगरानी विभाग ने अपनी अनुसंधान टीम गठित कर मामले का सत्यापन कराया. जांच में आरोप सत्य पाया गया. पटना से मुजफ्फरपुर गयी निगरानी की टीम ने साहेबगंज थाना कैंपस में एएसआई के आवास पर रिश्वत लेते बसंत रजक को गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ के लिए गिरफ्तार एएसआई बसंत को पटना लाया जा रहा है.

बता दें कि पिछले दिनों 9 नवंबर को निगरानी की टीम ने पटना में एक बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया था. खास बात कि उसमें महिला क्लर्क संगीता सिन्हा को टीम ने गिरफ्तार किया था. टीम ने उसे 15 हजार रुपये घूस की रकम लेते हुए रंगे हाथ पकड़ा था. महिला क्लर्क अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी, संचारी रोग, पटना के आॅफिस में पोस्टेड थी. उन्होंने नवादा जिले के कौवाकोल के रहने वाले सुनील गावस्कर से सैलरी बनाने के एवज में 15 हजार रुपये की रकम मांगी थी.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*