मुजफ्फरपुर : अपहृत बच्चे का मिला शव, लोगों में प्रशासन के खिलाफ गुस्सा

मुजफ्फरपुर में गंडक नदी के किनारे मिले शव देखने को उमड़े लोग

मुजफ्फरपुर (अभय) : मुज़फ़्फ़रपुर के पीअर थाना क्षेत्र के पीअर गांव से अपहृत प्रिंस राज का शव गुरुवार को हत्था ओपी क्षेत्र के तेपरी महेशपुर से बरामद कर लिया गया. वहीं अपहृत बच्चे के मुख्य आरोपी मुकेश को डीएसपी पूर्वी गौरव पांडेय ने बंगाल से गिरफ्तार किया था. मुकेश ने प्रशासन के सामने बच्चे के अपहरण में अपनी संलिप्तता की बात स्वीकार की थी. गुरुवार को इस मामले का पटाक्षेप हो गया.

गिरफ्तार आरोपी मुकेश ने बताया कि उसका और बच्चे के पिता अमरनाथ के साथ बकाया पैसा का विवाद था, इसमें 20 हजार रुपये की अमरनाथ ने बेईमानी कर ली थी. इसके कारण उसके लड़के प्रिंस राज का 22 नवंबर की रात में राजा नामक व्यक्ति के साथ मिलकर अपहरण किया था. वहीं जब प्रिंस रात में रोने लगा तो उसकी हत्या कर दी. गिरफ्तार आरोपी ने यह भी बताया कि घटना की रात में बाइक पर राजा के साथ बोरे में डालकर पीअर शिवमंदिर के नजदीक नदी में फेंक दिया था.

गंडक नदी के किनारे उमड़े लोग

इसके बाद डीएसपी पूर्वी खुद आरोपी को लेकर उसके बतायी गयी जगह पर तैराकों के साथ लगभग 4 घंटे नदी में खोजबीन की. हालांकि शव बरामद नहीं हो सका था. गुरुवार को भी अपहर्ता के बताये स्थान नदी किनारे बच्चे के शव को खोजा जा रहा था. तभी किसी ने बताया कि तेपरी के महेशपुर बूढ़ी गंडक नदी घाट पर मछुआरे द्वारा लगाए जाल में एक बच्चे का शव फंसा है. थानाध्यक्ष दलबल समेत वहां पहुंचे तो शव की अपहृत बच्चे के रूप में की गयी. इधर नदी में बच्चे के शव मिलने की खबर पर लोगों का हुजूम वहां पहुंच गया.

बता दें कि प्रखंड के पीअर से एक स्कूली छात्र प्रिंस राज का अपहरण बीते 22 नवंबर बुधवार की शाम 3 बजे के करीब हो गया था. परिजनों ने अपने स्तर से रातभर खोजबीन की, लेकिन पता नहीं चल सका. थक हार कर 23 तारीख को प्रशासन का सहारा लिया गया. बच्चे के अपहरण की प्राथमिकी परिजनों ने पीअर थाने में दर्ज करायी. इतना ही नहीं, ग्रामीणों ने घटना के विरोध में आगजनी कर सड़क को जाम भी किया था.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*