अब PMCH की ब्रांड एम्बेसडर बनेगी मुंगेर की सना, निकाली गई थी बोरवेल से

pmch, ब्रांड एम्बेसडर, मुंगेर, सना, पटना न्यूज़, बिहार समाचार, न्यूज़, हिंदी न्यूज़, बोरवेल, सूजन, पटना pmch

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बोरवेल में गिरी मुंगेर की बेटी सना अब तंदुरुस्त हो चुकी है. जी हां बता दें कि बेहतर इलाज के लिए सना को पीएमसीएच पटना रेफर किया गया था. दरअसल सना का बाएं आंख ने खुलना बन्द कर दिया था. दाहिनी ओर गर्दन भी नहीं मुड़ रही थी. सना का हेट स्वेलिंग लगातार बढ़ रहा था. जांच रिपोर्ट के बाद चिकित्सकों ने बेहतर इलाज के लिए पटना के पीएमसीएच भेजा था. बता दें कि कान के सूजन को देखते हो चिकित्सक ने उसे पटना रेफर किया.

हालांकि अब सना और उसके परिवार वालों के लिए एक अच्छी खबर है. मौत को मात देकर 28 घंटे बाद बोरवेल से बाहर निकली मुंगेर की बेटी सना को पटना मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पीटल ने अपना ब्रांड एम्बैसेडर बनाने का ऐलान किया है. कान के पास सूजन के कारण उसे पीएमसीएच में भर्ती कराया गया था जहां से बिल्कुल स्वस्थ होकर वह शुक्रवार को घर के लिए रवाना हो गई.

यह भी पढ़ें: नीतीश कुमार ने की बड़ी घोषणा, अक्टूबर तक हर घर में पहुंच जाएगी बिजली

सना को प्यार से सब सन्नो बुलाते हैं और जब पीएमसीएच से वो निकल रही थी तो वहां मौजूद हुजूम उसकी एक झलक पाने को बेताब था. पीएमसीएच के अधीक्षक डॉक्टर राजीव रंजन प्रसाद ने वहीं उसे अस्पताल का ब्रांड एम्बैसेडर बनाने का ऐलान कर दिया.

उसका इलाज कर रहे डॉक्टरों ने सना को फूलों से लाद दिया और और उसे मिठाई खिलाकर अस्पताल से रवाना किया. वह अपने साथ कई जाने -अनजाने लोगों से मिले गिफ्ट को सहेज कर ले गई है. दो अगस्त को एनडीआरएफ की टीम ने 28 घंटे की मेहनत के बाद सना को सुरक्षित बाहर निकाला था.

रेस्क्यू ऑपरेशन: 

सना की सकुशल बरामदगी के लिए एसडीआरएफ की टीम ने युद्ध स्तर पर काम किया और 45 फीट की खुदाई कर उसे सकुशल निकाला. बच्ची मिट्टी से दबे नहीं इसके लिए हॉरिजेंटल शेप में खुदाई की गई. बच्ची की निगरानी सीसीटीवी कैमरे से की गई तो उसे ऑक्सीजन की सप्लाई पाइप से की गई. पूरे रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान मुहल्ले के लोग से लेकर प्रशासनिक अधिकारी तक घटनास्थल पर मौजूद रहे.

ज्यों-ज्यों सना को बोरवेल से निकालने के लिए खुदाई हो रही थी लोगों की खुशी बढ़ रही थी क्योंकि सना के लिए एक नहीं बल्कि लाखों लोग दुआ कर रहे थे. एक सप्ताह पहले अपने ननिहाल आयी तीन साल की बच्ची सना मंगलवार की शाम तीन बजे घर में खेलने के दौरान सबमर्सिबल के लिए खोदे गये बोरवेल में जा गिरी.

मासूम सी बच्ची के बोरवेल में गिरने के बाद पूरे मुहल्ले के लोग उसे बचाने की कोशिश कर रहे थे. कोई बोरवेल में रस्सी डालकर सना को उपर खींचने का प्रयास करने लगा तो कोई सिक्कड़ के सहारे लेकिन किसी की मेहनत सना को बाहर नहीं निकाल सकी. स्थानीय लोगों के हार मानने के बाद एसडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंची थी.

देखें वीडियो:

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*