गुड न्यूज : पारस में कामयाब रही बच्चे की स्पाइन सर्जरी

spine-surgery

लाइव सिटीज डेस्क: मिथिलांचल में पहली बार बच्चे के स्पाइन की सर्जरी पारस ग्लोबल हॉस्पिटल, दरभंगा में की गयी. एक सड़क दुर्घटना में सात साल का बच्चा कृष्ण कुमार घायल हो गया था. उसकी पीठ क्षतिग्रस्त हो गयी थी. उसे पारस हॉस्पिटल के इमरजेंसी में भर्ती कराया गया. उसका पैखाना और पेशाब चार दिनों से नहीं हो रहा था तथा उसके दोनों पैर की ताकत खत्म हो गयी थी. एमआरआई जांच में यह बात सामने आयी कि स्पाइन का पार्ट लेमाइना टूट कर कॉर्ड को दबा रहा है.

जिसके कारण उसका पैखाना-पेशाब रूक गया है तथा दोनों पैर की ताकत चली गयी है. जांच-पड़ताल पूरी हो जाने के बाद ओर्थोपेडिक सर्जन डॉ दिलशाद अनवर ने उसके स्पाइनल कॉर्ड की सर्जरी कर उसे राहत पहुंचाई. डॉ. अनवर बताते हैं कि लेमाइना टूट कर कॉर्ड पर काफी दबाव बना रहा था, इसलिए बच्चे का स्पाइनल कॉर्ड ठीक से काम नहीं कर रहा था.



जिसके कारण उसका पैखाना-पेशाब रूका हुआ था. उन्होंने कहा कि चार दिन तक पैखाना-पेशाब रूकने से बच्चा बुरी तरह परेशान था. ऑपरेशन के दौरान उसके ड्यूरा की भी मरम्मत की गयी. उसके बाद जाकर उसकी तकलीफें दूर हुईं और वह अब बेहतर महसूस कर रहा है. उसे हॉस्पिटल से छुट्टी दे दी गयी है. इस ऑपरेशन में न्यूरो सर्जन डॉ. एजाज आलम ने भी डॉ. अनवर की मदद की. इस पूरे मामले की हॉस्पिटल को सीएमओ डॉ. आसिफ इकबाल ने को— ऑरर्डिनेट किया.

डॉ. अनवर ने कहा कि मिथिलांचल में यह बच्चे के स्पाइन की पहली सर्जरी है. उन्होंने कहा कि बच्चे की स्पाइन की सर्जरी करना काफी जटिल होता है, लेकिन उसके परिजनों ने डॉ. पर विश्वास करते हुए संयम बनाये रखा और इसलिए सर्जरी पूरी तरह सफल रही. उन्होंने कहा कि पारस में ऐसे ऑपरेशन करने के लिए सभी जरूरी उपकरण तथा सुविधाएं मौजूद हैं, इसलिए यहां इस तरह की सर्जरी आसानी से की जा सकती है.