बोले पप्‍पू यादव, सरकार की बालू नीति के कारण 17 लाख मजदूर हुए बेरोजगार

पटना: जन अधिकार पार्टी (लो) के संरक्षक और सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्‍पू यादव ने कहा है कि बालू को पूरी तरह नियंत्रण मुक्‍त कर देना चाहिए, ताकि वह सस्‍ती दर पर मिल सके. उन्‍होंने पत्रकारों से कहा कि राज्‍य सरकार की बालू नीति के कारण 17 लाख बालू मजदूर बेरोजगार हो गये हैं और बालू व्‍यवसाय से जुड़े साढ़े चार लाख कारोबारी बेरोजगार हो गये हैं. इसके कारण राज्‍य की आर्थिक स्थिति बदहाल हो गयी है. सांसद ने कहा कि राज्‍य सरकार पटना हाई कोर्ट के आदेशों की अवहेलना कर रही है. राज्‍य भर में बालूनीति और माफिया के खिलाफ आंदोलन चल रहा है. कारोबारी और ट्रक चालक आंदोलन कर रहे हैं. इससे जन-जीवन अस्‍त-व्‍यस्‍त हो रहा है.



उन्‍होंने कहा कि राज्‍य सरकार एक साजिश के तहत बालू के नाम पर लोगों का भयादोहन कर रही है. निर्माण कार्य ठप हो गया है. इसका खामियाजा पूरे प्रदेश को भुगतना पड़ रहा है.

बोले पप्पू यादव, विफलताओं को ढंकने के लिए मार्केटिंग का सहारा ले रहे हैं नीतीश

पप्पू यादव ने कहा कि बालू माफियाओं को सरकार का संरक्षण प्राप्‍त है. बालू माफिया, अधिकारियों और नेताओं की मिलीभगत से अधिक कीमत पर बालू की बिक्री जारी है, जबकि छोटे व्‍यवसायियों के खिलाफ सरकार कार्रवाई कर रही है. उन्‍होंने कहा कि जन अधिकार पार्टी (लो) राज्‍य सरकार की बालू नीति और माफिया के खिलाफ निर्णायक लड़ाई लड़ रही है. पप्पू यादव ने कहा कि अक्षम और नि‍ष्क्रिय प्रशासनिक तंत्र का खामियाजा जनप्रतिनिधियों को भुगतना पड़ रहा है. दूसरे प्रशासनिक सुधार आयोग ने जिला प्रशासनिक तंत्र को मजबूत करने की सिफारिश की थी. इसे तत्‍काल अमल में लाया जाना चाहिए.