DM-SSP बोले – पुलिसवालों ने बड़े हादसे को टाला है, काफी लोगों पर कार्रवाई होगी

पटना : राजधानी का राजीव नगर-दीघा इलाका आज पुलिस और पब्लिक के बीच रणक्षेत्र बन गया. दिन भर जम कर बवाल हुआ. उपद्रवी भीड़ ने 3 जेसीबी मशीन और पुलिस की जीप को आग के हवाले कर दिया. पूरा मामला साढ़े 4 एकड़ जमीन का है. आवास बोर्ड की इस जमीन पर पासपोर्ट और सीबीएसई का आफिस बनना है. जमीन को खाली कराने के लिए कोर्ट का आर्डर है. कोर्ट के ऑर्डर के तहत ही मजिस्ट्रेट, सिटी एसपी सेंट्रल और पुलिस फोर्स गई थी.

DM संजय अग्रवाल और एसएसपी मनु महाराज की मानें तो टीम ने एक बाउंडरी किये गए एरिया को ही तोड़ना शुरू किया था. आर्डर भी उसी जमीन का था. लेकिन भूमाफियाओं ने पूरे राजीव नगर इलाके को तोड़ने का अफवाह फैला दिया. जिसके बाद माहौल बिगड़ा. प्लान के तहत महिलाओं और बच्चों को आगे कर दिया गया. इसलिए पुलिस ने सभी को बचाने के लिए हवाई फायरिंग की. लेकिन उपद्रवी भी प्लानिंग के साथ थे. आसान नही था पुलिस की जीप और 3 जेसीबी में आग लगा देना. इसकी पूरी तैयारी भूमाफियाओं और उनके लोगों में पहले से कर रखी थी.

RAJIV4

घटना के बाद इलाका काफी देर तक पुलिस और उपद्रवियों के बीच रणक्षेत्र बना रहा. स्थिति बिगड़ते देख पटना के जिलाधिकारी संजय अग्रवाल और एसएसपी मनु महाराज ने सैकड़ों पुलिसकर्मियों के साथ फ्लैग मार्च किया. फ्लैग मार्च करते हुए दोनों दीघा थाना पहुंचे जहां अन्य वरीय पुलिस पदाधिकारियों के साथ मीटिंग की. उनके साथ ग्रामीण एसपी, तीनों सिटी एसपी, ASP पटना सदर और DSP लॉ एंड आर्डर भी मौजूद रहे.

DM-SSP
दीघा थाना में मीटिंग करते DM और एसएसपी

DM ने कहा

पटना के जिलाधिकारी संजय अग्रवाल ने कहा कि आज बिहार राज्य आवास बोर्ड द्वारा दो जमीन के अवैध कब्जे से मुक्त कराने के लिए कार्रवाई की जा रही थी. आज सिर्फ साढ़े चार एकड़ जमीन को खाली कराने के लिए पुलिस गई थी. इस जमीन पर किसी का कब्ज़ा नहीं था. काफी प्लाट पर पानी भरा है. एक दीवाल को गिराया गया था.

उन्होंने कहा कि कुछ स्वार्थी तत्वों ने अफवाह फैलाई जिससे भ्रम की स्थित पैदा हुई. पुलिस ने काफी संयम बरता. मौजूद अधिकारियों ने यह सुनिश्चित किया कि किसी आम आदमी को चोट न पहुंचे. हमारे पास काफी वीडियो फुटेज है सबको देखकर कार्रवाई की जायेगी. अगले सात दिनों में हम उक्त जमीन के दखल कब्जे की पूरी कार्रवाई कर लेंगे.

जिलाधिकारी ने साथ ही कहा कि किसी को अगर शिकायत हो तो वो हमें बताएं. हम उन्हें सुनने के लिए तैयार हैं. अगर किसी संगठन या व्यक्ति को आवास बोर्ड की कार्रवाई से समस्या है तो वो मुझसे या जिला प्रशासन से संपर्क कर सकता है.

SSP बोले

इस दौरान एसएसपी मनु महाराज ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि आवास बोर्ड के लिए जमीन खाली करानी थी जिसके लिए 100 से अधिक पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया था. आवास बोर्ड द्वारा अतिक्रमण हटाने के लिए पुलिस की प्रतिनियुक्ति मांगी गई थी. जो हमने दी थी. SDPO की भी प्रतिनियुक्ति की गई थी. उन्होंने कहा कि पुलिस वालों ने एक बड़े हादसे को टाला है. कई पुलिसवालों चोटें आईं हैं. काफी लोग चिन्हित किये जा रहे हैं. जिन पर कार्रवाई की जायेगी.

मनु महाराज ने कहा कि हमलोगों को अंदेशा है कि ये भूमाफिया का काम है, जिसने यह अफवाह फैलाई कि पुलिस पूरी बस्ती को उजाड़ने आ रही है. कार्रवाई एक ख़ास क्षेत्र के लिए की गई थी. प्लानिंग के साथ पुलिस काम करने गई थी. कुछ उपद्रवी तत्वों ने महिलाओं और बच्चों को आगे कर पथराव कराया है. पुलिस ने आम लोगों और बच्चों को बचाने के लिए हवाई फायरिंग की है.

उन्होंने कहा कि पुलिस की गाडी और जेसीबी को जलाया गया है. इसकी निश्चित तौर पर प्राथमिकी की जायेगी. आगे और प्लानिंग के साथ अतिक्रमण हटाने का काम किया जाएगा. फिलहाल हमारे पास मौजूद वीडियो के आधार पर सभी को चिन्हित कर कार्रवाई की जायेगी.

यह भी पढ़ें – 
तस्वीरें : पटना के राजीव नगर में पुलिस पर टूट पड़ी पब्लिक, JCB में लगा दी आग
राजीव नगर कांड : राजद ने कहा तानाशाही, तो कांग्रेस ने बताया खेद का विषय

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*