PUSU इलेक्शन : रविवार को भी हॉस्टलों में चला चुनाव प्रचार

पटना: पटना यूनिवर्सिटी में छात्रसंघ चुनाव को लेकर बढ़ी सरगर्मी का अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है कि चुनाव प्रचार आज यानि रविवार को भी नहीं रुका. स्टूडेंट यूनियन इलेक्शन में भाग ले रही पार्टियों ने आज पटना यूनिवर्सिटी के छात्रावासों में प्रचार किया. इसका साफ मतलब यह है कि अब छात्रसंघ चुनाव होने में बहुत काम समय बच गया है, ऐसे में कोई भी छात्र संगठन अपनी तरफ से कोई भी कसर नही छोड़ना चाहता है. लेफ्ट यूनिटी की AISA और AISF ने विश्वविद्यालय के सभी महिला छात्रावासों तथा इकबाल हॉस्टल और नदवी हॉस्टल में अपना चुनाव प्रचार किया. इसमें अध्यक्ष की उम्मीदवार मीतू कुमारी और उपाध्यक्ष पद की प्रत्याशी अनुष्का आर्या के साथ 2012 के छात्रसंघ चुनाव की महासचिव और जेएनयू में पीएचडी स्कॉलर अंशु कुमारी भी मौजूद रही.

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद(ABVP) ने भी यूनिवर्सिटी के छात्रावासों में अपना चुनाव प्रचार किया. ABVP की ओर से अध्यक्ष उम्मीदवार मुकेश कुमार के नेतृत्व में महासचिव पद के उम्मीदवार सुधांशु झा और उपाध्यक्ष पद की उम्मीदवार योषिता पटवर्द्धन ने भी सभी महिला छात्रावासों और साइंस कॉलेज के कैवेंडिश और फ़र्राडे हॉस्टल में जाकर छात्रों से मिली. पटना यूनिवर्सिटी में होने वाले छात्रसंघ चुनाव की तिथि 17 फरवरी है, मतलब साफ है कि अब चुनाव में सिर्फ़ 5 दिन बचे हैं.

छात्र राजद एवं NSUI गठबंधन के द्वारा आज रविवार को पटना यूनिवर्सिटी के विभिन्न हॉस्टलों में जोर-शोर से प्रचार किया गया. उम्मीदवारों ने छात्रों से मिलकर उनकी मुख्य समस्याओं पर चर्चा की. पटना यूनिवर्सिटी छात्रसंघ चुनाव में अध्यक्ष पद के प्रत्याशी राहुल रॉय के नेतृत्व में रानीघाट परिसर स्थित पीजी छात्रावास, न्यू लॉ हॉस्टल, ओल्ड लॉ हॉस्टल, हथवा हॉस्टल, सी वी रमन छात्रावास, रामानुजम एवं अंसारी छात्रावास एवं सायंस कॉलेज परिसर स्थित फैराडे छात्रावास एवं पटना कॉलेज में स्थित परिसर में इकबाल एवं नदवी छात्रावास में प्रचार-प्रसार किया गया.

इस अवसर पर महासचिव पद के प्रत्याशी अहमद हुसैन आरज़ू, संयुक्त सचिव पद के प्रत्याशी मोतीलाल राय, कोषाध्यक्ष पद की प्रत्याशी निवेदिता शेखर तथा उपाध्यक्ष पद के प्रत्याशी अंकित कुमार एवं अन्य छात्र राकेश, सुजित,आकाश आदि छात्रों की मौजूदगी में कार्यक्रम किया गया.

PUSU इलेक्शन : बोलीं ABVP प्रत्याशी  यूनिवर्सिटी को उसकी पुरानी गरिमा वापस दिलायेंगे

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*