लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: भोजपुरी सिनेमा में पीआर के लिए कोलकाता में आयोजित स्टेज एंड स्क्रीन भोजपुरी अवार्ड में शनिवार को रंजन सिन्हा और उदय भगत को बेस्ट पीआरओ के अवार्ड से नवाजा गया. दोनों भोजपुरी फ़िल्म इंडस्ट्री में लंबे समय से काम कर रहे हैं और इन्होंने अपनी मेहनत के जरिये कई फ़िल्म के प्रोमोशन में अहम भूमिका निभाई है. मालूम हो कि रंजन सिन्हा को बीते साल भी मुंबई में आयोजित सबरंग भोजपुरी फ़िल्म अवार्ड 2017 में बेस्ट पीआरओ का अवार्ड मिला था.

गौरतलब है कि रंजन सिन्‍हा ने अपने 14 साल के पीआर करियर में सुपर स्‍टार मनोज तिवारी, रवि किशन, खेसारीलाल यादव, अवधेश मिश्रा जैसे दिग्‍गज कलाकारों के लिए भी बतौर प्रचारक काम किया है. अब तक उन्‍होंने 450 से ज्‍यादा भोजपुरी फिल्‍मों के लिए पीआर किया है.

इसके अलावा भी रंजन सिन्हा ने बिहार सरकार के कला संस्कृति एवं युवा विभाग द्वारा आयोजित प्रकाशपर्व, पटना फ़िल्म फेस्टिवल, पटना शार्ट एंड रिजनल फ़िल्म फेस्टिवल, गांधी पनोरमा फ़िल्म फेस्टिवल, बिहार कला सम्मान समारोह, बाबू वीर कुंवर सिंह विजयोत्सव जैसे कार्यक्रमों को भी सफलतापूर्वक लोगों के बीच ले गए.  रंजन सिन्‍हा फिल्‍म के साथ – साथ गवर्नेमेंट, पॉलिटिकल,  सोशल,  कमर्सियल क्षेत्र में भी पीआर करते हैं.

वहीं, उदय भगत ने भी कई भोजपुरी फिल्मों में अपनी प्रतिभा से कई फिल्मों का सफलतापूर्वक पीआर किया. साथ ही वे भी भोजपुरी कलाकार अंजना सिंह, दिनेशलाल यादव निरहुआ, आम्रपाली दुबे के लिए भी बतौर प्रचारक जम कर काम कर रहे हैं. पत्रकारिता से करियर की शुरुआत करने वाले उदय आज मुंबई में इंडस्ट्री में काफी सक्रिय हैं. वे देसी गर्ल प्रियंका चोपड़ा के प्रोडक्शन पर्पल पेबल के बैनर तले बनी दो फ़िल्मों ‘बम बम बोल रहा है काशी’ और ‘काशी अमरनाथ’ में भी पीआरओ रह चुके हैं.

गर्मी के रूख को देख डीएम ने बदल दी है क्लास 8 तक के स्कूल की टाइमिंग