20 किमी के एरिया में रेड कर रही SIT, पुलिस को मिला लुटेरों का लिंक

पटना : 45 लाख रुपए कैश लूट मामले में पटना पुलिस की टीम वारदात स्थल से 20 किमी की एरिया में छापेमारी कर रही है. अब तक अपराधियों को खंगालने के लिए कई ठिकानों पर मामले की जांच कर रही एसआईटी गई. कई संदिग्धों को SIT कब्जे में लेकर पूछताछ कर रही है.

एसआईटी के कामकाज पर हर दिन अपनी नजर रख रहे सेंट्रल रेंंज के डीआईजी राजेश कुमार ने साफ किया है कि इलाहाबाद बैंक के कैश वैन से 45 लाख रुपए लूटने वाले लुटेरे 20 किमी एरिया के दायर में रहने वाले हैं. वारदात में शामिल अपराधियों के लिंक मिले हैं. उसी आधार पर एसआईटी तेजी से काम को अंजाम दे रही है. डीआईजी का दावा है कि एसआईटी जल्द ही लुटेरों तक पहुंचेगी. वारदात में 8—10 अपराधी शामिल हैं. इन सभी को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाएगा. सीसीटीवी फुटेज और टावर लोकेशन के आधार पर भी काफी सारे क्लू हाथ लगे हैं.

सामने आया बैंक स्टाफ का कनेक्शन

इस कैश लूटकांड में बैंक स्टाफ का कनेक्शन सामने आ चुका है. एसआईटी की जांच में ये बात सामने आ चुकी है. डीआईजी ने शुक्रवार को जहानाबाद के एसपी, पटना ईस्ट के सिटी एसपी और पटना सदर के एएसपी के साथ पूरे मामले का रिव्यू किया. एसएसपी मनु महाराज की एसआईटी में शामिल इन पुलिस अधिकारियों को कई इंपॉरटेंट इंस्ट्रक्शन डीआईजी राजेश कुमार की ओर से दिए गए.

स्केच बनवा रही है SIT

अपराधियों तक पहुंचने के लिए एसआईटी हर रास्ते को अख्तियार कर रही है. अब एक्सपर्ट के जरिए वारदात को अंजाम देने वाले अपराधियों का स्केच बनवाया जा रहा है. वारदात के वक्त कैश वैन में बैंक के ​चपरासी योगेन्द्र विश्वकर्मा सवार थे. इन्होंने अपराधियों के हुलिए को देखा था. इनके साथ ही हेड कैशियर रोहित गोविंदम और वैन के ड्राइवर श्याम ने भी कुछ अपराधियों के चेहरे देखे थे. अब इन सब के बताए हुए हुलिए के आधार पर पुलिस की टीम एक्सपर्ट से अपराधियों के स्कैच बनवा रही है.

यह भी पढ़ें – संदेह के घेरे में घायल गार्ड, मैनेजर से बिल्कुल अलग है उसका बयान

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*