गांधी मैदान में DM-SSP के साथ तेजस्वी की मीटिंग, कहा – आनेवालों की संख्या का अंदाजा नहीं

पटना : आगामी 27 अगस्त को राजद की प्रस्तावित ‘देश बचाओ, भाजपा भगाओ’ रैली में पार्टी कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती है. इसी क्रम में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव अपने लाव-लश्कर के साथ आज गुरुवार को रैली स्थल गांधी मैदान का जायजा लेने पहुंचे. यहां उन्होंने पुलिस और प्रशासन के आला अधिकारियों के साथ बैठक की.

बैठक में तेजस्वी यादव के साथ पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव, पूर्व सहकारिता मंत्री आलोक मेहता, विधायक सह प्रवक्ता शक्ति सिंह यादव, राजद के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. रामचन्द्र पूर्वे समेत बड़ी संख्या में पार्टी के नेता, कार्यकर्ता व समर्थक मौजूद रहे. उनके अलावा पुलिस व प्रशासन की ओर से डीएम संजय अग्रवाल समेत एडीएम और एसडीएम स्तर के अधिकारियों समेत पटना पुलिस के मुखिया एसएसपी मनु महाराज के साथ सभी सिटी एसपी, डीएसपी लॉ एंड ऑर्डर शिबली नोमानी, डीएसपी सदर कैलाश प्रसाद समेत अन्य डीएसपी व पुलिस अधिकारी मौजूद रहे.



बैठक के संबंध में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बताया कि 27 अगस्त की रैली एक ऐतिहासिक रैली होने जा रही है. इसमें किसी तरह की कोई दिक्कत न आए और पुलिस प्रशासन के साथ समन्वय बना रहे, इसी बात को लेकर समीक्षा बैठक की गई. तेजस्वी ने कहा कि प्रशासन को भी अंदाजा नहीं होगा कि कितनी बड़ी तादाद में लोग रैली में शामिल होंगे.

उन्होंने कहा कि रैली को लेकर लोगों में उत्साह के साथ आक्रोश है, जिस तरह से सृजन घोटाला हुआ, वोटों की डकैती की गई, लोगों को छला गया. तेजस्वी ने कहा कि जब हम जिलों में जाकर सभा कर रहे थे तब वहां लाखों लोगों की भीड़ जमा हो रही थी. उन्होंने कहा कि इतनी बड़ी संख्या में आने वाले लोगों की जिम्मेदारी हमारी और प्रशासन की बनती है. लोगों के लिए पानी की व्यवस्था, शौचालय की व्यवस्था, पार्किंग, उनकी सुरक्षा आदि में किसी तरह की कोई कमी न रहे.

तेजस्वी ने कहा कि रैली के प्रबंधन को लेकर हमारी तरफ से जो कुछ किया जा रहा है, वह प्रशासन को बता दिया गया है. अब प्रशासन की जिम्मेदारी है कि वह किस तरह से व्यवस्था करता है ताकि शांतिपूर्ण तरीके रैली संपन्न हो सके. तेजस्वी ने इस बात का संदेह भी जताया है कि राजद को बदनाम करने के लिए रैली में असामाजिक तत्व भी घुस सकते हैं. उन्होंने कहा कि इन सब बातों से पुलिस व प्रशासन को आगाह कर दिया गया है.