प्रशांत किशोर ने दी तेजस्वी को नसीहत, बोले – आपकी भाषा से संस्कार का पता चलता है…

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: पांच राज्यो में हुए विधानसभा चुनाव में बीजेपी को मिली करारी हार से बिहार NDA में बयानबाजी तेज़ हो गई है. बिहार में भाजपा की सहयोगी दल JDU के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने कहा कि  3 राज्यों में चुनावी परिणाम अलार्मिंग नहीं है. जो पार्टी हारी है वही बताएगी हार का क्या कारण है. वहीं उन्होंने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को नसीहत देते हुए कहा कि आपकी भाषा से संस्कार का पता चलता है. राजनीति में अच्छे भाषा का प्रयोग होना चाहिए.

शुक्रवार को पटना में पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि 3 राज्यों में चुनावी परिणाम अलार्मिंग नहीं है. जो पार्टी हारी है वही बताएगी हार का क्या कारण है. वहीं उन्होंने PM मोदी को लोकप्रिय नेता बताते हुए कहा कि PM नरेंद्र मोदी का करिश्मा जनता 5 महीनों में तय करेगी.  पीएम मोदी नेता के तौर पर सबसे लोकप्रिय हैं. पीएम मोदी के नेतृत्व में 2019 का चुनाव लड़ेंगे.

वहीं PK ने तेजस्वी पर निशाना साधते हुए कहा, “आपकी भाषा से संस्कार का पता चलता है. राजनीति में अच्छे भाषा का प्रयोग होना चाहिए. आप जिस भाषा का प्रयोग करते हैं जनता देख रही है.”

JDU उपाध्यक्ष ने आगे कहा कि भाजपा और JDU दो पार्टी हैं. कई मुद्दों पर हमारी सोच अलग है. अगर एक सोच होती तो अलग – अलग पार्टी में नहीं होते. वहीं प्रशांत किशोर ने बिहार में पार्टी के आधार पर पंचायत चुनाव कराने की मांग की.

पटना पहुंचते ही गरज पड़े तेजस्वी यादव

आपको बता दें कि राफेल डील मामले पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव मोदी सरकार पर खूब बरसे हैं. दिल्ली से पटना पहुंचे बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बड़ा हमला बोला. तेजस्वी यादव ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि इस मामले की जॉइंट पार्लियामेंट्री जांच होनी चाहिए. इस के साथ ही उन्होंने कहा कि बीजेपी क्या कहती उससे कोई मतलब नहीं है. किसी के कहने से माना नहीं जा सकता है. घोटाले की जांच हो तभी दूध का दूध पानी का पानी होगा.

नीतीश कुमार कहते थे पीएम मोदी के टक्कर में कोई नहीं. लेकिन चुनाव परिणाम के बाद अब नीतीश कुमार फिर से पलटी मारने की तैयारी में हैं. चाचा नीतीश हमारे साथ आना चाहते थे. हमारा दरबाजा तो चाचा के लिए बंद है.

तेजस्वी ने कहा कि मुझे कोई डीएनए का गाली देगा मैं तो उसके सरण में कभी नहीं जाऊंगा. नीतीश कुमार की अंतरात्मा पलटी मारने के लिए बेचैन है. चुनावी मौसम शुरू होते ही बीजेपी को राम याद आते हैं. 2019 में बीजेपी की सरकार बनती है तो राम की नहीं पीएम मोदी की मंदिर बनाएगी बीजेपी.

About परमबीर सिंह 787 Articles
राजनीति, क्राइम और खेलकूद....

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*