बातों – बातों में जीतन राम मांझी ने ठोक दिया पूर्णिया लोकसभा सीट पर दावा, इतने हैं SC के वोट

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क:आगामी लोकसभा चुनाव नजदीक आते ही बिहार की राजनीति गरमा गई है. सभी राजनीतिक पार्टियां सीट शेयरिंग को लेकर परेशान नजर आ रहे हैं. इसी दौर में हम पार्टी के संरक्षक और पूर्व मुखयमंत्री जीतन राम मांझी ने अपना पत्ता चल दिया  है. रविवार को मांझी अपनी पार्टी हम की “गरीब स्वाभिमान सम्मेलन” में गए हुए थे. जहां उन्होंने बातों – बातों में पूर्णिया लोकसभा सीट पर अपना दावा ठोक दिया है. आपको बता दें कि पूर्णिया लोकसभा क्षेत्र में लगभग 6 लाख अनुसूचित जाती के वोट है. वहीं मांझी का इधर ही इशारा हैं.

पूर्व मुखयमंत्री और हम के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी एक मीडिया हॉउस से बात करते हुए यह बात भले घुमा – फिरा कर की हो. लेकिन उन्होंने यह साफ़ कहा कि पूर्णिया लोकसभा में 6 लाख अनुसूचित जाती  के वोट है. जिससे महागठबंधन को काफी फायदा मिलेगा.  पूर्णिया शहर के सर्किट हाउस में यह बाते उन्होंने कही.

इन सब के बीच गौर करने वाली बात यह है कि लोकसभा चुनाव से ठीक पहले हम की “गरीब स्वाभिमान सम्मेलन” का मुख्य मकसद सीएम नीतीश समेत सत्तापक्ष पर बरसने के साथ महागठबंधन को अपनी शक्ति का एहसास कराना था. इंदिरा गांधी स्टेडियम में जुटी अच्छी-खासी भीड़ के सामने समूचे संबोधन में जीतन राम मांझी सीएम पर बरसते और लालू को खुश करने की कवायद करते दिखे.

“गरीब स्वाभिमान सम्मेलन” में गए थे मांझी

वही जीतन राम मांझी  ने “गरीब स्वाभिमान सम्मेलन” को संबोधित करते हुए कहा कि इस सम्मेलन का मुख्य उद्देश्य मुखयमंत्री नीतीश कुमार और भजपा का आलोचना करना था. वहीं उन्हें हमारी शक्ति का ऐहसास भी कराना था. इंदिरा गांधी स्टेडियम में उन्होंने नीतीश कुमार और सत्तापक्ष की खूब आलोचना की, तो वहीं राजद सुप्रीमों लालू यादव की खूब सराहना करते नजर आए.

वैसे तो मांझी की पार्टी हम सेक्यूलर शुरुआत से ही पूर्णिया सीट पर महागठबंधन की ओर से अपने टिकट का दावा कर रही है. हम का तर्क है कि जिले से कांग्रेस व राजद दोनों ही पार्टियों को बीते चुनाव में टिकट दिया जा चुका है. लेकिन दोनों ही पार्टियों को लोकसभा चुनावों के दौरान हार मिली थी.

आपको बता दें कि पिछले लोकसभा चुनावों में पूर्णिया से कांग्रेस और राजद दोनों चुनाव लड़ चुकी है. लेकिन दोनों को हार का सामना करना पड़ा था. इन सब बातों को देखते हुए हम इस सीट पर दावा कर रही है.

About परमबीर सिंह 1988 Articles
राजनीति, क्राइम और खेलकूद....

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*