लॉक डाउन से फीकी पड़ी ईद की रंगत, लोगों ने अपने-अपने घरों पर ही अदा की नमाज

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : देशभर में लोग ईद का पर्व शांति और भाईचारे के साथ मन रहे हैं. लॉक डाउन के कारण घरों में ही ईद की नमाज अता करते नज़र आ रहे हैं. ताज़ी तस्वीर मुंगेर मुंगेर जिले की है जहां ईद उल फितर पर्व आपसी सद्भभाव से लोगों ने अपने परिवारों व बच्चों के साथ घरो में मनाया. लॉक डाउन और कोरोना महामारी के कारण लोग पहली बार अपने घरों पर बरामदे में ईद की नमाज अता की और एक दूसरे को मुबारक बाद दी. अल्लाह से भारत को कोरोना मुक्त करने की दुआ भी की.

वहीं शहरनिवासी जफर अहमद कहते हैं कि कोरोना महामारी के कारण जिस तरह ईद अपने सोशल डिस्टेंस के तहत अपने घरों में नमाज की अदायगी की और मस्जिदे बंद रही. इसपर उन्होंने कहा कि अल्लाह ताला से दुआ है की ये कोरोना जैसी महामारी जल्द से जल्द इस पूरे मुल्क से समाप्त हो जाये.



वहीं बच्चों ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण हमलोग सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए हम सब ईद मना रहे है. उन्होंने कहा कि कोरोना के कारण हमलोग ईद पर एक जगह से दूसरे जगह नहीं जा पा रहे हैं. ना ही परिवार के घर जाकर एक दूसरे को बधाई दे पा रहे हैं.

उन्होंने आगे कहा कि सब बच्चे खुश हैं और अपने परिवारों के साथ ईद मना रहे और एक दूसरे को काफी समय दे रहे हैं.

वहीं मुज़फ़्फ़रपुर में लॉक डाउन को लेकर ईद के अवसर पर लोगों ने नमाज अपने घर पर ही अता की और शांति पूर्वक ईद मना रहे हैं.