अब महानंदा एक्सप्रेस भी सजी मिथिला पेंटिंग से, प्रचार-प्रसार पर रेलवे का विशेष ध्यान

लाइव सिटिज, सेंट्रल डेस्क: बिहार में मिथिला पेंटिंग का क्रेज दिनों दिन बढ़ता जा रहा है. ट्रेन, सड़क, कपड़े आदि जगहों पर मिथिला पेंटिंग का लुक बहुत ही खुबसूरत नज़र आ रहा है. बता दें कि मिथिला पेंटिंग प्रचार-प्रसार को लेकर रेलवे ने खासकर एक नई मुहिम चलायी है. पहले संपर्क क्रांति एक्सप्रेस को मिथिला पेंटिंग से सुसज्जित किया गया था. अब रेलवे ने महानंदा एक्सप्रेस को मिथिला पेंटिंग से सुसज्जित किया है.

जानकारी के मुताबिक, मिथिला की सांस्कृतिक और कलात्मक विरासत को बढ़ावा देने और प्रचार-प्रसार को लेकर रेलवे ने संपर्क क्रांति एक्सप्रेस के बाद अब महानंदा एक्सप्रेस को मिथिला पेंटिंग से सुसज्जित किया है. उत्तर फ्रंटियर रेलवे के अलीपुरद्वार डिवीजन ने पहल करते हुए अलीपुरद्वार से दिल्ली को जानेवाली महानंदा एक्सप्रेस (15483/84) की एसी बोगियों को मधुबनी पेंटिंग से सजाया-संवारा है. विश्वविख्यात क्षेत्रीय कला को नयी ऊंचाई देने के उद्देश्य से रेलवे द्वारा शुरू की गयी पहल अब पश्चिम बंगाल के उत्तर में स्थित अलीपुरद्वार के लोगों तक पहुंचेगी. इससे यहां के लोग भी बिहार की संस्कृति को समेटे मिथिला पेंटिंग को और बेहतर ढंग से देख-समझ सकेंगे.

बता दें कि इसके पहले बिहार संपर्क क्रांति एक्सप्रेस को मिथिला पेंटिंग से सजाया गया था जो दरभंगा से नई दिल्ली के लिए रवाना की गयी थी. इस कला को ट्रेन की बोगियों की बाहरी दीवारों पर मधुबनी पेंटिंग से सजाया गया है. इस ट्रेन के नए लुक को देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग स्टेशन पहुंचे.

ट्रेन को रवाना किए जाते समय दरभंगा रेलवे स्टेशन पर मौजूद समस्तीपुर रेल मंडल के क्षेत्रीय रेल प्रबंधक (डीआरएम) आर के जैन ने कहा कि मधुबनी और मिथिला पेंटिंग विश्वविख्यात है. इसे रेलवे ने अपनाया है.”

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*