सर्दियों में हड्डी एवं गठिया के मरीजों को पारस हाॅस्पिटल से विशेष नसीहत

दरभंगा: कई लोगों की शिकायत होती है कि सर्दियों में उन्हें हड्डियों में या जोड़ों में बहुत दर्द होता है. पारस ग्लोबल हाॅस्पिटल, दरभंगा ने इस विषय पर एक विशाल मुफ्त कैम्प आयोजित किया. सैकड़ों लोगों ने इसमें भाग लिया. पारस के रूमैटोलाॅजिस्ट डाॅ. शिव कुमार सुमन और आॅर्थोपेडिक सर्जन डाॅ. दिलशाद अनवर इस कैम्प के मुख्य डाॅक्टर थे, जिन्होंने सैकड़ों मरीज देखे और कई महत्वपूर्ण जानकारी भी दी. मरीजों ने भी कई जरूरी सवाल किये जिनके सटीक जवाब उन्हें मिले.

मरीजों को समझाते पारस हॉस्पिटल के डॉक्टर

मरीज: क्या गठिया केवल बुढ़ापे में होता है?



डाॅ. शिव कुमार सुमन: गठिया किसी भी उम्र में हो सकती है. अधिकांश ये बूढ़ों में पाया जाता है.

मरीज: आर्थराइटिस शरीर के किस अंग को प्रभावित करता है? क्या ये केवल जोड़ों या हड्डियों को प्रभावित करता है?

डाॅ. शिव कुमार सुमन: आर्थराइटिस शरीर के किसी भी अंग को प्रभावित कर सकता है. जैसे कि अगर किसी को किडनी में समस्या हो तो इसका भी आर्थराइटिस हो सकता है.

मरीज: आर्थराइटिस कितने प्रकार के होते हैं?

डाॅ. शिव कुमार सुमन: आर्थराइटिस 100 से अधिक प्रकार के होते हैं.

मरीज: सबसे आम तौर पे कौन से प्रकार का आर्थराइटिस होता है?

डाॅ. शिव कुमार सुमन: आस्टियोआर्थराइटिस सबसे आम किस्म की आर्थराइटिस है.

मरीज: सर्दियों में हड्डियों के लिए क्या सावधानी बरतनी चाहिए?
डाॅ. शिव कुमार सुमन:
क) अपने आप को एवं जोड़ों को गर्म कपड़ों से ढंक कर रखें.
ख) कपड़े बदलने में आसानी हो.
ग) दस्तानों एवं मोटे मोजों का प्रयोग करें.
घ) उंगलियों तक को अच्छे से ढंक कर रखें.
ड़) सूर्य किरण में विटामिन डी होती है. सूर्य की किरण में बैठें.
च) यूरिक एसिड से संबंधित गठिया के मरीज मांस या मीट न खायें, कोल्ड ड्रिंक और शराब का सेवन बंद करें.

मरीज: गर्म पानी से स्नान करना चाहिए या नहीं?

डाॅ. शिव कुमार सुमन: गर्म पानी से स्नान करना चाहिए.