पटना के शिक्षक व्हाट्सएप ग्रुप में कर रहे हैं आपत्तिजनक बातें, अब होगी कार्रवाई

whatsapp

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : सोशल साइट्स इंसान के अभिव्यक्ति की आजादी का बड़ा माध्यम हैं. हालांकि इनके दुरूपयोग होने के मामले भी अक्सर सामने आते रहते हैं. सोशल साइट्स पर किसी के भी खिलाफ अभद्र और आपत्तिजनक भाषा का प्रयोग करते हुए अपनी अभिव्यक्ति की आजादी को भी सही नहीं माना जाता है. साथ ही इसे नियंत्रित करने के लिए कानूनी प्रावधान भी मौजूद हैं. अब पटना जिला शिक्षा कार्यालय भी कुछ ऐसे ही मामले से दो-चार हो रहा है.

दरअसल, पटना जिला शिक्षा कार्यालय ने एक आदेश जारी किया है, जिसमें शिक्षकों द्वारा सोशल साइट्स (फेसबुक, व्हाट्सएप) पर अभद्र/आपत्तिजनक भाषा के प्रयोग को लेकर नाराजगी जताई गई है. इस आदेश को पटना शिक्षा पदाधिकारी और जिला कार्यक्रम पदाधिकारी (स्थापना) ने संयुक्त रूप से जारी किया है. आदेश में कहा गया है कि जिले में शिक्षक अथवा इस कार्य से जुड़े कर्मी सोशल साइट्स पर ऐसी भाषा का इस्तेमाल न करें. अन्यथा उनपर आईटी एक्ट, साइबर क्राइम और IPC की सुसंगत धाराओं के अंतर्गत कार्रवाई की जाएगी.

PATNA-DEO
जारी आदेश

शिक्षकों पर अविश्वास और उनकी आर्थिक असमानता बेहतर शिक्षा व्यवस्था में बाधक

आज की शिक्षा व्यवस्था की बदहाली के लिए शिक्षक कसूरवार नहीं : केदारनाथ पांडेय

इस आदेश के अनुसार विभाग ने ऐसा पाया है कि कई शिक्षक और शिक्षण से जुड़े कर्मी सोशल साइट्स पर बिहार सरकार, सीनियर अधिकारियों के साथ ही शिक्षक संघ के नेताओं – पदाधिकारियों के खिलाफ भी अभद्र भाषा में पोस्ट करते हैं. इतना ही नहीं, आधिकारिक सूचनाओं के आदान – प्रदान के लिए बनी व्हाट्सएप ग्रुप्स में तथ्यहीन रिपोर्ट और ख़बरें भी पोस्ट की जाती हैं. गाली – गलौज करने की भी बातें सामने आई हैं. इन्हीं घटनाओं के आलोक में जारी इस आदेश में ग्रुप एडमिन पर भी जिम्मेदारी डाली गई है. आगे ऐसी परिस्थिति में ग्रुप एडमिन पर भी कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है.

इस पूरे घटनाक्रम पर बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ के मीडिया प्रभारी अभिषेक कुमार ने लाइव सिटीज को बताया कि इस तरह के निर्देश की जरूरत लंबे समय से महसूस की जा रही थी. उन्होंने बताया कि शिक्षक संघ से जुड़े कई व्हाट्सएप ग्रुप में भी आपत्तिजनक संदेश पोस्ट किये जाते हैं. कई बार तो अश्लील मैसेज और वीडियो भी भेजे गए हैं. इन सबसे शिक्षक और इस पेशे की बदनामी होती है. इसकी शिकायत भी कई बार की गई है. कुमार ने कहा कि हालांकि अब विभाग द्वारा इस आदेश के जारी होने के बाद ऐसी घटनाओं पर लगाम लगने की संभावना है.

बिहार में भाजपा – जदयू को हराने के लिए तेजस्वी यादव और हार्दिक पटेल में आज हुई है बड़ी डील, जानिए क्या प्लान है….

वीडियो : सुशील मोदी कर रहे हैं खुलासा कि लीज के मार्फत तेजस्वी यादव ने कैसे पटना सिटी में हड़प ली है जमीन….