राजद विधायक की गुंडई, स्कूल में जाकर शिक्षक को दी जाति सूचक गाली, पीटा भी

सासाराम (राजेश कुमार): विधायक जी को अक्सर गुस्सा आता है. सत्ता में भागीदारी के वक्त गुस्सा आने पर गाली—गलौज से ही काम चल जाता था. सत्ता चली गई तो अब गुस्सा मारपीट में तब्दील हो जाता है. ये सारी बातें रोहतास जिले के काराकाट क्षेत्र से राष्ट्रीय जनता दल से विधायक संजय यादव से जुड़ी हैं. सोमवार को विधायक जी लाव—लश्कर के साथ काराकाट थाना क्षेत्र में गोडारी स्थित राम रूप उच्च विद्यालय में पहुंचे थे. स्कूल में पहुंचते ही उस दिन के प्रभारी शिक्षक राम वृक्ष पासवान पर बरस पड़े.

वो हुआ जो नहीं होना था…

आरोप है कि विधायक जी ने वह सब कुछ किया, जो विद्या के मन्दिर में नहीं होना चाहिए था. शिक्षकों ने काराकाट थाने में अब लिखित शिकायत दी है. ​तहरीर के अनुसार सोमवार की सुबह करीब साढ़े 11 बजे विधायक संजय यादव अपने 50 समर्थकों के साथ विद्यालय में आए. विधायक ने प्रभारी शिक्षक रामवृक्ष पासवान को जातिसूचक शब्दों के इस्तेमाल के साथ धमकाया और मां—बहन की गालियां दीं. जब गालियां देकर मन नहीं भरा तो 2-3 थप्पड़ भी जड़ दिए. विधायकी नेता जी के सिर पर चढ़कर बोल रही थी. इसी वजह से तमाम कक्षाओं में घुसकर उन्होंने अन्य शिक्षकों के साथ भी बदसलूकी की.

ये था असली कारण

घटना के पीछे जो कारण बताया गया है ​वह भी चौंकाने वाला है. बताया गया कि राजद विधायक संजय यादव ने स्कूल के शिक्षकों को राजद की रैली के लिए दो बसों का इंतजाम करने के लिए कहा था. शिक्षक सीमित संसाधनों के कारण इंतजाम नहीं कर सके. आरोप है कि इसी बात का बदला निकालने के लिए राजद विधायक संजय यादव ने स्कूल में घुसकर शिक्षकों के साथ बदसलूकी की गई है.

अब बात भी नहीं करेंगे विधायक जी

इस संबंध में जब LiveCities ने विधायक संजय यादव से बात करने की कोशिश की, तो कई बार रिंग जाने के बावजूद उन्होंने फोन नहीं उठाया. हालांकि कुछ मीडियाकर्मियों को उन्होंने बताया कि मारपीट और जाति सूचक शब्दों के साथ गाली—गलौज का आरोप बेबुनियाद है. विधायक वहां पर विद्यालय प्रबंधन के खिलाफ जांच करने के लिए गए थे. उन्हें जनता की तरफ से शिकायत मिली थी कि शिक्षक लोगों से लगातार अवैध वसूली कर रहे हैं. रैली में बस मांगने की बात को विधायक ने सिरे से खारिज कर दिया है.

दहशत में हैं शिक्षक

आज की घटना से विद्यालय में दहशत का माहौल है. विद्यालय में कार्यरत सात महिला शिक्षकों समेत सभी 14 शिक्षक विद्यालय छोड़ कर थाने की शरण में हैं. विधायक संजय यादव के खिलाफ प्राथमिकी के लिए आवेदन तो प्रभारी राम वृक्ष पासवान ने दिया है. जबकि सभी 15 शिक्षकों ने हस्ताक्षर कर अलग से आवेदन थाने को दिया है. शिक्षकों ने विधायक के कहर से सुरक्षा की मांग की है. शिक्षकों का कहना है कि जब तक सुरक्षा नहीं मिलती, स्कूल नहीं खुलेगा.

इन्होंने दिया है आवेदन

उक्त आवेदन में रामवृक्ष पासवान के अलावा नागेन्द्र कुमार तिवारी, अशोक कुमार मिश्र, आमिष कुमार, मो. हसीब—उल—हक, सुनील कुमार सिंह, सुधीर कुमार, पिंकी कुमारी, संगीता कुमारी, मृदुला दुबे, मंजू कुमारी, प्रिय प्रकाश, फिरदौस बानो व किरण प्रकाश के हस्ताक्षर हैं. काराकाट के थानाध्यक्ष ने इस संबंध में दो आवेदनों के प्राप्त होने की पुष्टि करते हुए कहा कि नियमानुकूल कार्रवाई की जा रही है.

VIRAL AUDIO : मां-बहन-बीवी सबों का रेप कर देंगे विधायक जी, घुसेड़ भी देंगे

EXCLUSIVE VIDEO : RJD के MLA गाली दे रहे हैं थानेदार को, बेटा देता है हर माह 3 लाख की लेवी

झाझा के गालीबाज DSP हटाए गए, Live Cities पर वायरल हुआ था ऑडियो

सुन लीजिए इस VIRAL AUDIO को : भद्दी-भद्दी गालियां देता है यह थानेदार

Golden Opportunity : पटना एयरपोर्ट के पास 1 करोड़ का लग्‍जरी फ्लैट, बुकिंग चालू है

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*