UPDATE : दियारा हादसे में 6 को मिला मुआवजा, 2 बच्चे अभी भी लापता

vaishali-dm
घटनास्थल पर पहुंचे अधिकारी

पटना/वैशाली (जुलकर नैन) : आज रविवार को बीच गंगा नदी में नाव से मौज-मस्ती करने पहुचे 11 लोग स्नान करने के दौरान डूब गए. जिसमें 3 बच्चों को मुर्छित स्थिति में जिंदा निकाल लिया गया, जबकि 8 लोग लापता हो गए. स्थानीय लोगों की मदद से 6 लोगों का शव निकाल लिया गया है लेकिन दो बच्चों का शव अब तक नही निकाला है.

दोनों शव निकालने के लिए NDRF की टीम लगातार प्रयास में जुटी है. बताया जा रहा है कि कार्तिक पूर्णिमा समाप्ति की पुरानी परंपरा के अनुसार फतुहा के नोहटा इलाके से लगभग 10 घरों के परिवार पिकनिक मनाने गंगा नदी के बीच निकले बालू के एक टीला पर गए थे. सभी लोग नाव से पहुंच भी गए और नाव लगा कर पिकनिक की तैयारी करने लगे. इसी बीच 1 महिला और 10 बच्चे-बच्चियों समेत 11 लोग गंगा में स्नान करने चले गए.

 

स्नान के दौरान एक को डूबते देख सभी उसे निकलने क़े लिये कोशिश करने लगे. इसी बचाने के क्रम में सभी डूबते चले गए. मृतक में एक महिला समेत 1 से 14 साल तक के बच्चे एवं बच्चियां शामिल हैं. सभी मृतक नोहटा गाँव क़े फतुहा नगर परिषद के वार्ड नम्बर 14 का बताया गया है. सभी मृतक आस-पास के ही तीन घरों के है.

इस घटना के बाद वैशाली जिला और पटना जिला का विवाद खड़ा हुआ. जिसके कारण करीब 3 घंटे तक जिला प्रशासन की टीम घटना स्थल तक नहीं पहुंची. सभी 6 लाशों को स्थानीय लोगों की मदद से निकाला गया जिसके कारण स्थानीय लोग आक्रोशित हो गए. मौके पर पहुंची फतुहा पुलिस को देखकर लोग हंगामा करने लगे.

फतुहा पुलिस ने हंगामे की खबर वरीय अधिकारियों तक पहुंचाई जिसके बाद आनन-फानन में वैशाली DM रचना पाटिल और वैशाली SP घटना स्थल पर पहुंचे. वैशाली के रुस्तमपुर थाना को मामले को सुपुर्द करते हुए सभी छह शवों के परिजनों को 4-4 लाख का चेक दिया. बाकी शवों को निकलने के बाद चेक दिया जाएगा.

पटना में दर्दनाक हादसा : महिलाओं-बच्चों समेत पिकनिक मनाने गए लोग गंगा नदी में डूबे

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*