उपेन्द्र कुशवाहा ने चिंतन शिविर में बीजेपी पर किया सीधा हमला, मिशन 2019 के लिए शंखनाद

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: इन दिनों बिहार के सियासत में सरगर्मी तेज है. बात बीजेपी की हो या आरएलएसपी की, हर तरफ एक ही चर्चा है. अब बात कर लेते है चिंतन शिविर की. तो इस चिंतन शिविर में उपेंद्र कुशवाहा ने बीजेपी के ऊपर सीधा हमला बोला है. कुशवाहा ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी हकीकत में भारतीय जुमला पार्टी है और बिहार बीजेपी के अंदर बैठे नेता नीतीश कुमार के चमचेबाजी में व्यस्त हैं. कुशवाहा ने यह भी कहा कि जुमलेबाजी से जनता का भला नहीं हो सकता है और बीजेपी को मंदिर निर्माण जैसे मुद्दे नहीं उठाने चाहिए.

कुशवाहा ने कहा कि मंदिर बनाने का काम साधु संतों का है, ना कि राजनीतिक दलों का. कुशवाहा ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि अगर मंदिर निर्माण करना ही था तो बीजेपी ने पिछले 4 साल में यह काम क्यों नहीं किया? कुशवाहा ने उम्मीद के मुताबिक अपनी पार्टी की बैठक में एनडीए को जमकर खरी-खोटी सुनाई है.

चिंतन शिविर में एनडीए और मोदी सरकार के खिलाफ खुलेआम बागी तेवर दिखाने के बाद कुशवाहा केंद्रीय कैबिनेट में कितने दिनों तक रह पाएंगे या देखना अब बड़ा दिलचस्प होगा. आरएलएसपी नेता उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि ‘अब याचना नहीं रण होगा.’ यही अंतिम पंक्ति बोलकर चले गए शिविर से चले गए उपेन्द्र कुशवाहा.

हालांकि अब यह कहना गलत नहीं होगा की इसी पंक्ति से कुशवाहा ने सीएम नीतीश कुमार पर हमला बोला है. बिहार में बढ़ रहे अपराध, शिक्षा में आ रही गिरावट से लेकर उनके नालंदा मॉडल पर कटाक्ष किया. इसके पहले उन्होंने बीजेपी पर भी चुन-चुन कर तीर चलाया. श्रीराम से लेकर अटल बिहारी वाजपेयी तक का उदाहरण देते हुए बीजेपी को जुमला पार्टी बताया. उन्होंने नीतीश सरकार से बेहतर लालू के कार्यकाल को माना. उन्होंने कहा कि इस शासन से कहीं बेहतर लालू-राबड़ी का कार्यकाल था. भले ही नीतीश कुमार उनके कार्यकाल को कोस रहे हों, लेकिन हकीकत यही है कि आज अपराध चरम पर है. घटनाएं नहीं रुक रही हैं.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*