लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: आज युवा राजद द्वारा राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव को झूठे केस में फंसाने की घिनौनी साजिश का पर्दाफाश होने पर राज्यव्यापी आंदोलन के तहत युवा राजद पटना जिलाध्यक्ष सतीश कुमार चन्द्रवंशी एवं महानगर अध्यक्ष विकास कुमार श्रीवास्तव के नेतृत्व में पटना के आयकर गोलंबर पर नीतीश-मोदी का पुतला दहन किया गया.

युवा राजद के प्रदेश प्रवक्ता सह मीडिया प्रभारी अरूण कुमार यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एवं उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, केंद्र सरकार के एक वरिष्ठ मंत्री, प्रधानमंत्री, प्रधानमंत्री कार्यालय के एक वरिष्ठ अधिकारी, सीबीआई के उच्च अधिकारी राकेश आस्थाना ने सबकुछ एक पूर्व नियोजित योजना बनाकर और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से सांठगांठ कर आईआरटीसी और अन्य मामले में साक्ष्य नहीं होने के बावजूद लालू यादव जी और उनके परिवार के विरूद्ध मामला दर्ज करने का काम किया.

नीतीश कुमार और सुशील मोदी का एक ही उद्देश्य था कि राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव को झूठे केस में फसा कर जेल भेजने और फिर राजद को खत्म कर स्वतंत्र रूप से प्रदेश पर हुकूमत करना चाहती है. पटना जिला युवा राजद अध्यक्ष सतीश कुमार चन्द्रवंशी ने कहा कि गरीबों, वंचितों, शोषितों, दलितों, अकलियतों और कमजोर वर्ग के लोगों के अधिकार के साथ खिलवाड़ करना.

यह भाजपा-जदयू का मनसा लालू यादव के रहते संभव नहीं था. इसलिए लालू यादव और उनके परिवार और पार्टी को समाप्त करने की घिनौनी साजिश थी. जोकि सीबीआई के निदेशक आलोक वर्मा द्वारा सीवीसी को भेजे गये जवाब में यह उजागर हो गया है. पटना महानगर युवा राजद अध्यक्ष विकास श्रीवास्तव ने कहा कि युवा राजद चुप बैठने वाली नहीं है. पूरे प्रकरण को युवा राजद आंदोलन के माध्यम से जनता के बीच ले जाकर दोनों सरकारों के अनैतिक कार्यों का पर्दाफाश करने का काम करेगी.

तब तक नहीं बैठेंगे जबतक लोकतंत्र विरोधी सरकार को उखाड़ नहीं फकेंगे. पुतला दहन में प्रभात रंजन, मुकेश कुमार यादव, वेद प्रकाश यादव, इकबाल अहमद, रंधीर यादव, फुदेना रविदास, रामराज कुमार, पंकज यादव, शेखर यादव, चंदन कुमार, शिवेन्द्र कुमार तांती, शिव कुमार, अजीत कुशवाहा, पप्पू कुमार, ओमप्रकाश चैटाला, प्रदीप ठाकुर, सौरभ रंजन, रौनित यादव सहित सैंकड़ों युवा राजद कार्यकर्ता शामिल थे.