बोले युवा चेतना के रोहित सिंह- भारत को विश्व गुरू बनाने के लिए संगठित हों युवा

लाइव सिटीज डेस्क : आज पटना के बी0आई0ए0 सभागार में जलियांवाला बाग में शहीद हुए देशभक्तों की स्मृति में 99वाँ श्रद्धांजलि सभा का आयोजन युवा चेतना के तत्वावधान में किया गया. इस श्रद्धांजलि सभा का उद्घाटन करते हुए स्वामी अभिषेक ब्रह्मचारी ने कहा कि 1857 आन्दोलन की क्रांति देश की आजादी हेतु प्रथम आन्दोलन था, परन्तु 13 अप्रैल 1919 को घटित जलियाँवाला बाग कांड ने 1947 में हिन्दुस्तान की आजादी में अभूतपूर्व योगदान दिया. स्वामी अभिषेक ने कहा कि राजनैतिक पार्टियाँ राष्ट्रहित से भटक गयी है. जनता को जात-पात के नाम पर दिग्भ्रमित कर सत्ता का आनंद लेने में सभी पार्टियाँ मशगूल हैं. देश के युवाओं को आज संकल्प लेना चाहिए कि भारत के नवनिर्माण में भगत सिंह, चन्द्रशेखर आजाद के सिद्धांतों को आत्मसात करेंगे.

कार्यक्रम को मुख्य अतिथि के रूप में सम्बोधित करते हुए बिहार विधान सभा के अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने कहा कि 1915 के दौर में महात्मा गाँधी भारतीय आजादी के आन्दोलन में सक्रिय हुए थे. 1919 में घटित इस घटना ने पूरे देश में छिटपुट हो रहे संघर्षों को गांधी के पीछे खड़ा कर दिया था। विजय चौधरी ने कहा कि अंग्रेजों के दमनकारी नीतियों के खिलाफ क्रांतिकारियों ने अद्भुत संघर्ष किया. हमारी युवा पीढ़ी को देश के स्वतंत्रता आंदोलन के महत्वपूर्ण तिथियों से सीखना चाहिए.

बतौर मुख्य वक्ता बी0एच0यू0 के पूर्व कुलपति डॉ0 गिरीश चन्द्र त्रिपाठी ने सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि जलियाँवाला बाग कांड अंग्रेजों द्वारा भारतीयों का नरसंहार था. हिन्दुस्तान इस तारीख को कभी नहीं भूल सकता है. डॉ0 त्रिपाठी ने कहा कि पंडित मदन मोहन मालवीय ने जलियाँवाला बाग काण्ड के संदर्भ में तथ्यों को जुटाकर ब्रिटिश पार्लियामेंट को जब सम्बोधित किया जो संसद में बैठे अंग्रेज सांसदों को इस निर्मम नरसंहार की स्थिति समझ में आयी. पूरे विश्व को पं0 मालवीय के सम्बोधन के बाद इस घटना की सच्चाई जानकर आश्चर्य हुआ. डॉ0 त्रिपाठी ने कहा कि इस तारीख पर पूरे देश में सिर्फ कार्यक्रम नहीं, बल्कि संकल्पित होना चाहिए कि कैसे हम अपने देश की संस्कृति और सभ्यता को बचा सकेंगे.

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए युवा चेतना के राष्ट्रीय संयोजक रोहित कुमार सिंह ने कहा कि हिन्दुस्तान जलियाँवाला काण्ड में शहीद हुए हजारो देशभक्तों का आजीवन ऋणी है.रोहित सिंह ने कहा कि देश के नौजवानों को भटकाने का प्रयास किया जा रहा है. हिन्दुस्तान भर के विश्वविद्यालयों में देश विरोधी वातावरण को हवा दिया जा रहा है. 

रोहित सिह ने कहा कि आवश्यकता है युवाओं को संगठित होकर भारत को विश्व गुरू बनाने की. श्री सिंह ने कहा कि 1952 के प्रथम चुनाव में भी हम ‘‘रोटी-कपड़ा-मकान’’ के लिए संघर्ष कर रहे थे और अब वर्ष 2019 का चुनाव आ गया है, फिर भी इन मुद्दों में कोई परिवर्तन नहीं हो पाया. देश की जनता सभी राजनीतिक पार्टियों से उब चुकी है. रोहित सिंह ने कहा कि हम युवाओं से आह्वान करते हैं कि संगठित हो, देश की प्रतिष्ठा को स्थापित करने का कार्य करें. 

समारोह को पाटलीपुत्र विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ0 जी0सी0 जयसवाल, बिहार पुलिस अवर सेवा आयोग के अध्यक्ष श्री सुनीत कुमार, वरिष्ठ चिकित्सक डॉ0 अहमद अब्दुल हई, डॉ अर्जुन सिंह, रामनरेश महतो, अमित राय गांधी, अंकुर तिवारी, राजीव राय अप्पू, उपेन्द्र चौहान, दीपक ठाकुर, पप्पू वर्मा, सनोज यादव, शशिरंजन, अरूण पाण्डेय, बीरेन्द्र शर्मा, सौरभ भारती पासवान आदि ने भी सम्बोधित किया. इस अवसर पर बिहार विधान सभा के अध्यक्ष ने जहानाबाद निवासी स्वतंत्रता सेनानी राधेश्वर शर्मा को अंगवस्त्र देकर सम्मानित किया.

बक्सर में बोले युवा चेतना के रोहित सिंह, देश मंगल पांडे का ऋणी
सियासत के उस्ताद हो गए हैं अर्जित शाश्वत. पटना आते ही दे दिया है जबरदस्त बयान…देखे वीडियो में…

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*