‘लालू लीला’ के बाद नीतीश की किताब ‘संसद में विकास की बातें’, 23 अक्टूबर को होगी लॉन्च

nitish kumar, book, patna news, bihar news, politics, book of nitish kumar, lalu leela, नीतीश कुमार, संसद में विकास की बातें, प्रभात प्रकाशन, नीतीश कुमार की पुस्तक

लाइव सिटीज डेस्क: बिहार में अभी बुक पॉलिटिक्स गरम है. लालू प्रसाद पर लिखी सुशील कुमार मोदी की किताब ‘लालू लीला’ के बाद बिहार के सीएम नीतीश कुमार पर लिखित पुस्तक का भी लोकार्पण होने जा रहा है. नीतीश कुमार पर लिखी पुस्तक ‘संसद में विकास की बातें’ 23 अक्टूबर को लॉन्च होगी. एक और जहाँ लालू लीला में सुशील मोदी ने लालू यादव के घोटालों की चर्चा की है वहीं नीतीश कुमार की इस पुस्तक ‘संसद में विकास की बातें’ में एक राजनेता से अलग स्टेटसमैन की श्रेणी में कैसे शुमार हैं नीतीश कुमार, इसकी झलक इस पुस्तक में दिखेगी़.

‘संसद में विकास की बातें’

23 अक्टूबर को बिहार विधान परिषद् के सभागार में इसका विमोचन होगा. इस पुस्तक को भी मशहूर प्रभात प्रकाशन ने छापा है. नरेंद्र पाठक द्वारा संकलित ‘संसद में विकास की बातें’ नामक इस पुस्तक में वो सारे भाषण हैं जो नीतीश कुमार ने अपने ससंदीय काल में बतौर सांसद दिया था. प्रभात प्रकाशन के एक अधिकारी ने बताया कि ये किताब नीतीश कुमार के भाषणों का संकलन है.

नीतीश की आरंभिक राजनीतिक यात्रा से संसद तक

पुस्तक में नीतीश कुमार की आरंभिक राजनीतिक यात्रा से लेकर संसद में उनके उठाये सभी मुद्दों का संकलन किया गया है़ 560 पन्ने की इस पुस्तक की कीमत 900 रुपये है. ‘संसद में विकास की बातें’ पुस्तक के माध्यम से आम लोग खास कर नयी पीढ़ी को लोकसभा की कार्यवाही की जानकारी मिल सकेगी़ किताब में संसदीय यात्रा के क्रम में नीतीश कुमार ने सरकार और समाज से जुड़े मुद्दोें को आम विमर्श के केंद्र में कैसे लाया, और शासन में आने के बाद उन मुद्दों के संधान में कैसे जुट गये, इसकी पूरी तसवीर दिखती है.

https://youtu.be/FdCJeE44WxM

संसद की कार्यवाही के दौरान नीतीश कुमार ने बतौर एक सांसद, कृषि राज्यमंत्री व रेल मंत्री की हैसियत से जो भी बातें कहीं, उसे पुस्तक के 125 अध्यायों मे पिरोया गया है़ पुस्तक लिखने वाले नरेंद्र पाठक इस किताब के संकलनकर्ता हैं. बिहार के सीएम नीतीश कुमार इससे पहले भी किताब लिख चुके हैं जिसका लोकार्पण पूर्व राष्ट्रपति ने किया था. सुशील कुमार मोदी की पुस्तक के लोकार्पण के 10 दिन बाद आने वाली इस पुस्तक को लेकर प्रकाशक भी खासे उत्साहित हैं.

यह भी पढ़ें- ‘लालू लीला’ पर शुरू हुई सियासत, RJD बोली- सुशील मोदी खुद पर लिखे किताब, वो हैं कौन

बुक पॉलिटिक्स: सुशील मोदी ने लिखी ‘लालू लीला’, तो शशि थरूर ने पीएम मोदी पर लिखी किताब

About Razia Ansari 1935 Articles
बोल की लब आज़ाद हैं तेरे, बोल जबां अब तक तेरी है

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*