Bihar Politics : लोजपा के बाद अब रालोसपा में भगदड़! थोक भाव में नेताओं ने दिया इस्तीफा

लाइव सिटीज, पटना : बिहार में विधानसभा चुनाव के बाद लोजपा के बाद अब रोलासपा सुर्खियों में है. रालोसपा के भविष्य को लेकर भी सवाल उठ रहे हैं. जेडीयू में रालोसपा के विलय होने की बात भी कही जा रही है. हालांकि, पार्टी प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा ने साफ कर दिया है कि पार्टी के विलय की बात निराधार है. इन्हीं चर्चाओं के बीच अचानक से रालोसपा के 41 छोटेबड़े नेताओं ने पार्टी छोड़ कर कुशवाहा को बड़ा झटका दिया है. इसके पहले लोजपा के 300 से अधिक नेताओं ने पार्टी छोड़कर जेडीयू व बीजेपी का दामन थाम लिया है. रालोसपा नेता कहां जाएंगे, इस पर अभी फैसला नहीं हुआ है.

बताया जाता है कि उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी रालोसपा के 41 नेताओं ने कल सामूहिक इस्तीफा देकर पार्टी से संबंध सदा के लिए तोड़ लिया है. पार्टी नेता विनय कुशवाहा की मानें तो अभी तो यह बस झांकी है. यह सिलसिला आने वाले दिनों में और तेज होगा. और भी कई नेता पार्टी छोड़ेंगे. उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि पार्टी के कार्यकर्ता नीतीश सरकार के खिलाफ सड़क पर उतरकर आंदोलन कर रहे हैं और सुप्रीमो उपेंद्र कुशवाहा उनसे ही गलबिहयां कर रहे हैं.

उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि उपेंद्र कुशवाहा ने पूरे समुदाय को गुमराह किया है. उन्होंने कहा कि रालोसपा के 90 परसेंट कार्यकर्ता जेडीयू में पार्टी के विलय के पक्ष में नहीं हैं. आज पार्टी से इस्तीफा देने वाले नेता भविष्य में किस दल में जाएंगे, इस पर मंथन चल रहा है. सर्वसम्मति से विमर्श के बाद ही इस पर अंतिम फैसला होगा. बता दें कि पिछले दिनों इंडियन एक्सप्रेस में रालोसपा के जेडीयू में जल्द ही मर्ज होने की खबर आने के बाद पार्टी के नेताओं व कार्यकर्ताओं में बेचैनी बढ़ गई थी. तब उपेंद्र कुशवाहा ने मीडिया से कहा था कि मर्ज होने की बात निराधार है.