स्वामी सहजानंद के नाम पर हो बिहटा एयरपोर्ट, रामकृपाल यादव ने लोकसभा में उठाया मुद्दा

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : पाटलिपुत्र से सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री रामकृपाल यादव ने लोकसभा में शून्य काल के दौरान बिहटा एयरपोर्ट नांमकरण स्वामी सहजानंद सरस्वती के नाम पर रखने मुद्दा उठाया. उन्होंने कहा कि स्वामी जी एक बुद्धजीवी, लेखक, समाज सुधारक, क्रांतिकारी और किसान नेता थे. उनकी राजनैतिक गतिविधिया अधिकतर बिहार में केंद्रित थी खासकर बिहटा से उनका ज्यादा लगाव था. इसलिए एयरपोर्ट का नाम उनके नाम पर होना चाहिए.

यादव ने कहा कि स्वामी जी ने सन 1927 में समस्तीपुर से आकर बिहटा में श्री सीताराम दास जी द्वारा प्रदत्त भूमि पर श्री सितारामाश्रम की स्थापना कर कई वर्षों तक स्थाई निवास किया. इसी के साथ उन्होंने बिहटा एयरपोर्ट के निर्माण कार्य में तेजी लाने का भी मुद्दा उठाया और कहा कि बिहटा एयरपोर्ट के बन जाने से बिहारवासियों को काफी फायदा होगा.

गौरतलब है कि बिहटा एयरपोर्ट नांमकरण पहले से उठता आया है. इसको लेकर नई दिल्ली में युवा चेतना सुप्रीमो रोहित कुमार सिंह ने 2018 में सुरेश प्रभु से मुलाकात की थी. रोहित सिंह मांग करते आए है कि बिहटा में बन रहे हवाईअड्डा का नाम स्वामी सहजानंद के नाम पर किया जाए.

कौन हैं स्वामी सहजानंद 

स्वामी सहजानंद सरस्वती बुद्धिजीवी, लेखक, समाज सुधारक, क्रांतिकारी और महान किसान नेता थे. स्वामी जी ने किसान को भगवान का दर्जा दिया. वे जमींदारी प्रथा के खिलाफ थे तथा इसके लिए उन्होंने किसानों को इकट्ठा किया और अखिल भारत किसान सभा का गठन कर जमींदारी प्रथा के खिलाफ आंदोलन शुरू किया. पटना जिला का बिहटा क्षेत्र उनकी कर्मभूमि का मुख्य केंद्र था और यहां उन्होंने एक आश्रम भी बनाया. उनके जीवन का ज्यादातर समय बिहटा में गुजरा. रामकृपाल यादव ने कहा कि इस ऐतिहासिक पुरुष के साथ बिहटा के लोगों का काफी भावनात्मक जुड़ाव रहा है.

 

About परमबीर सिंह 1554 Articles
राजनीति, क्राइम और खेलकूद....

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*