बिहार के नक्सल प्रभावित जिलों में अलर्ट, बड़े हमले की आशंका

लाइव सिटीज पटना: बिहार के नक्सल प्रभावित जिलों में अलर्ट जारी कर दिया गया है. दरअसल लखीमपुर खीरी की घटना को लेकर माओवादियों ने बंद का ऐलान किया है. लखीमपुर खीरी की घटना को नरसंहार बताते हुए माओवादियों ने 17 अक्तूबर को बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश और छत्तीसगढ़ में बंद का ऐलान किया है. माओवादी संगठन ने पोस्टर चस्पा कर इसकी पुष्टि की है. माओवादियों ने ये बंद लखीमपुर खीरी की घटना के विरोध में बुलाया है.

पोस्टर में माओवादी प्रवक्ता ने लिखा है कि आंदोलनरत किसानों पर वाहन दौड़ा देना नरसंहार की श्रेणी में आता है. इस नरसंहार में मारे गए किसानों के प्रति सरकार संवेदनहीन बनी हुई है. मुआवजे के अलावा सरकारी नौकरी देने की घोषणा की गई, पर अब तक नौकरी मुहैया नहीं कराई गई है. साथ ही माओवादी संगठन ने लोगों से बिहार में चल रहे पंचायत चुनाव का बहिष्कार करने को भी कहा है.

बता दें कि उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में आंदोलन कर रहे किसानों को गाड़ी को कुचल दिया गया था. जिसमें कई किसानों की मौत हुई थी. केंद्रीय गृह राज्‍य मंत्री अजय मिश्र के बेटे को आरोपित बना गया है. मंत्री के आरोपित बेटे को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. लखीमपुर खीरी कांड पर सियासत भी खूब हुई.