एंबुलेंस विवाद बनी गले की फांस, जाप नेता पर तोड़फोड़ का केस, डीएसपी की जांच के बाद बड़ी कार्रवाई की तैयारी

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: जाप नेता के लिए एंबुंलेंस विवाद गले की फांस बन गई. केंद्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूड़ी को सांसद गांव में 50 से अधिक नए एंबुलेंस को यूं ही खड़ी करने का आरोप लगाने और इस मामले में घंटों वाक युद्ध चलने के बाद अब पप्पू यादव के ऊपर एफआईआर दर्ज करने की तैयारी शुरू कर दी गई है. विश्वप्रभा सामुदायिक केंद्र पर पुलिस अधिकारियों की जांच के बाद पप्पू यादव के खिलाफ केस दर्ज करने की तैयारी शुरू कर दी गई है.

जाप नेता पप्पू यादव ने कोरोना महामारी में केंद्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूड़ी के द्वारा लोगों की समस्या के प्रति उदासीनता का आरोप लगाया था. सांसद गांव में खड़ी एंबुलेंस के मामले में जाप नेता ने घंटों केंद्रीय मंत्री को घेरने का प्रयास किया था. इधर, सांसद प्रतिनिधि की ओर से गांव में खड़ी एंबुलेंस में तोड़-फोड़ की शिकायत पर विश्वप्रभा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर जांच के लिए मढौरा डीएसपी पहुंचे थे. जहां जाप नेता पप्पू यादव पर एंबुलेंस में तोड़फोड़ के आरोप में एफआईआर की तैयारी शुरू कर दी गई है.

इससे पहले केंद्रीय मंत्री के द्वारा चालकों की कमी समस्या बताने पर पप्पू यादव ने कहा कि केंद्रीय मंत्री जब चाहें संपर्क साधें, उन्हें हम 40 एंबुलेंस चालक उपलब्ध करा देंगे. उन्होंने मांग की कि जनता की सेवा में इस महामारी में एंबुलेंस और दूसरी स्वास्थ्य सुविधाएं अन्य प्रदेशों के जिलों की भांति नि:शुल्क क्यों नहीं की जा रही है.