गैंगस्टर विकास को लाया गया बेतिया, बबलू दुबे की हत्या से लेकर केडिया किडनैपिंग तक में पूछताछ

पुलिस गिरफ्त में गैंगस्टर विकास सिंह, जानकारी देते बेतिया एसपी जयंत कांत.

लाइव सिटीज बेतिया (प्रशांत सौरभ) : गैंगस्टर बबलू दुबे की हुई हत्या के मामले में पूछताछ के लिए दिल्ली में गिरफ्तार गैंगस्टर विकास सिंह को बेतिया लाया गया है. पिछले साल मई में गैंगस्टर बबलू देव की बिहार के बेतिया कोर्ट परिसर में हत्या हुई थी. उस समय बबलू दुबे को कोर्ट में पेशी के लिए लाया गया था. तभी अपराधियों ने घटना को अंजाम दिया था. इसी मामले में पुलिस को विकास सिंह की तलाश थी. सोमवार को दिल्ली की क्राइम ब्रांच ने गैंगस्टर विकास सिंह को आरकेपूरम सेक्टर 8 से गिरफ्तार किया था. इसके लिए बेतिया पुलिस की भी एक टीम दिल्ली गई हुई थी.

दिल्ली से गिरफ्तार गैंगस्टर विकास सिंह को मंगलवार को बेतिया लाया गया है. इस मामले में बेतिया पुलिस अधीक्षक जयंतकांत ने बताया कि विकास से पूछताछ की जा रही है. विकास की गिरफ्तारी के लिए बलथर थानाध्यक्ष ओमप्रकाश चौहान, तकनीकी शाखा के सिपाही मुन्ना कुमार साह, सुनील कुमार सिंह, सनत कुमार विनायक आदि की एक टीम बिहार से दिल्ली गई हुई थी. दिल्ली की क्राइम ब्रांच के सहयोग से आरकेपूरम में छिपे विकास को गिरफ्तार किया गया था.

बबलू दुबे हत्याकांड : बिहार का गैंगस्टर विकास सिंह को दिल्ली की क्राइम ब्रांच ने पकड़ा

विकास सिंह की तलाश तब से अधिक तेज हो गयी, जब उसका नाम गैंगस्टर बबलू दुबे हत्याकांड में आया. बबलू दुबे की हत्या 11 मई 2017 को हुई थी. बेतिया स्थित व्यवहार न्यायालय कैंपस में गैंगस्टर बबलू दुबे की हत्या हुई थी. उस समय कोर्ट में पेशी के लिए बबलू दुबे को लाया गया था. तभी घात लगाये अपराधियों ने वारदात को अंजाम दिया था. तभी से गैंगस्टर विकास सिंह को पुलिस तलाश कर रही थी.

बता दें कि विकास का आपराधिक रिकॉर्ड रहा है. कई जिलों से उसके आपराधिक तार जुड़े हुए हैं. ऐसे में विकास की तलाश केवल बेतिया ही नहीं, बल्कि मोतिहारी और मुजफ्फरपुर पुलिस भी कर रही थी. विकास ने ​ही रंगदारी के लिए रक्सौल के कैंब्रिज स्कूल में फायरिंग की थी. मोतिहारी के इंजीनियर की हत्या में भी वह शामिल था. इसके अलावा हत्या व रंगदारी के कई अन्य मामलों में भी पुलिस उसे खोज रही थी. एसपी जयंत कांत ने बताया कि टीम में शामिल सभी पुलिस पदाधिकारियों और जवानों को पुरस्कृत किया जाएगा.

उधर पुलिस सूत्रों की मानें तो पूछताछ में विकास ने बबलू दुबे हत्याकांड से जुड़े कई रहस्यों का पर्दाफाश किया है. बबलू की हत्या पैसों के लेनदेन में हुए विवाद के कारण हुई थी. बबलू की हत्या का तार सुरेश केडिया अपहरण कांड से भी जुड़ा बताया जा रहा है. पुलिस सूत्रों के अनुसार विकास ने पूछताछ में इसे स्वीकार किया है. सूत्रों की मानें तो नेपाल के व्यवसायी सुरेश केडिया के अपहरण के बाद उसकी रिहाई के लिए अपराधियों ने मोटी रकम वसूल की थी. इस रकम की बड़ी राशि को बबलू ने हजम कर लिया था, जबकि अपहरण में शामिल अन्य अपराधियों को कुछ खास नहीं मिला था. इससे वे बबलू दुबे से खार खाए हुए थे और मामला नहीं सलटा तो उसकी हत्या कर दी गई.

गैंगस्‍टर संतोष झा : मैगजीन खाली कर दूसरे को मरवाता था, खुद सिर-सीने में गोली लगते ही ढेर हुआ

एसपी जयंत कांत ने बताया कि बबलू दुबे को पहले भी दो बार मारने का प्रयास किया गया था, लेकिन अपराधी अपने मंसूबे में मई 2017 में सफल हुए. उन्होंने यह भी बताया कि बबलू दूबे हत्याकांड की फाइल के अवलोकन से ही पता चला कि पूर्वी चंपारण के संग्रामपुर थाना अंतर्गत भवानीपुर गांव निवासी विकास सिंह अभी भी फरार है. तब इसे लेकर ​जाल बिछाया गया. पुलिस को पता चला कि विकास ग्वालियर में रह रहा है और पिछले सप्ताह दिल्ली आनेवाला है. इसके बाद सही लोकेशन लेकर बेतिया पुलिस ने क्राइम ब्रांच के सहयोग से गिरफ्तार कर लिया.

BREAKING : बिहार के सबसे बड़े गैंगस्टर संतोष झा को सीतामढ़ी में गोलियों से भूना गया

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*