पाटलिपुत्रा महोत्सव : बिहारी लोक कलाओं की रहेगी धूम, हर रोज मिलेंगे सीखने को

लाइव सिटीज पटना : पाटलिपुत्रा महोत्सव के शुरू होने में लगभग सप्ताह भर का समय रह गया है. इस महोत्सव का आगाज 26 दिसंबर से होगा. पहली बार इतने व्यापक पैमाने पर किसी महोत्सव का आयोजन पटना में हो रहा है. यही वजह है कि अभी से पटनाइट्स इसे लेकर काफी उत्साहित हैं. बता दें कि पाटलिपुत्रा महोत्सव का आयोजन जदयू इंडस्ट्री सेल की ओर से मिलर हाई स्कूल ग्राउंड में किया जा रहा है. यह महोत्सव खास है. वजह कई हैं. यहां आपको बिहार के कई रंग देखने को मिलेंगे. बड़े पैमाने पर आयोजित हो रहे इस पाटलिपुत्रा महोत्सव में हर रोज कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा.

यहां हर किसी के लिए कुछ न कुछ


अगर आप स्टार्टअप रन कर रहे हैं, तो अपने स्टार्टअप आइडिया के लिए इससे बेहतर प्लेटफार्म नहीं हो सकता. वहीं महिलाओं और युवाओं को सशक्त बनाने के लिए स्किल इंडिया के तहत कई ट्रेनिंग सेशन का भी आयोजन किया जायेगा. फूडी लोगों के लिए बिहार एवं अन्य राज्यों के लजीज व्य़ंजनों के भी स्टॉल लगेंगे. नुक्कड़ नाटक के माध्यम से सोशल मैसेज भी दिए जाएंगे. मतलब पाटलिपुत्रा महोत्सव में बिहार के लोगों को हर तरह से खुश करने का पूरा इंतजाम है.

ब्रांड बिहार को जानेगी दुनिया


महोत्सव में एंटरटेनमेंट भी जमकर होगा. आप महोत्सव में होनेवाले सांस्कृतिक कार्यक्रमों के बारे में भी जान लें. सात दिनों तक चलने वाले इस महोत्सव में रंगारंग प्रस्तुति होगी. इसकी रौनक पूरी दुनिया देखेगी. विभिन्न क्षेत्रों से कई जाने माने सेलिब्रिटीज भी महोत्सव में शामिल होकर आपका भरपूर मनोरंजन करेंगे. पाटलिपुत्रा महोत्सव का मकसद पूरी दुनिया के सामने ब्रांड बिहार की छवि को प्रस्तुत करना है.

ट्रेनिंग सेशन से सीखाए जाएंगे नए स्किल्स


सात दिनों तक चलने वाले इस महोत्सव में महिलाओं व युवाओं को और अधिक स्ट्रांग बनाने पर फोकस किया जायेगा. राज्य सरकार की कौशल विकास योजना के तहत हर रोज ट्रेनिंग सेशन का आयोजन होगा. ट्रेनिंग सेशन में भी आपको बिहार के रंग देखने को मिलेंगे. महोत्सव में डेली चलनेवाले ट्रेनिंग सेशन में महिलाओं और युवाओं को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने पर जोड़ होगा. इसका मकसद युवाओं और महिलाओं को आत्मनिर्भर बना कर उन्हें रोजगार मुहैया कराना है. इससे बिहार का भी भला होगा. ट्रेनिंग सेशन में भाग लेने वाले प्रतिभागियों के कौशल और उपलब्धियों से राज्य की अर्थव्यवस्था भी मजबूत होगी.

लाइव डेमो दिखा कर दी जाएगी ट्रेनिंग


मिलर हाईस्कूल ग्राउंड में आयोजित पाटलिपुत्रा महोत्सव में लाइव ट्रेनिंग सेशन से लोगों को बिहारी लोकल आर्ट के स्किल्स सिखाए जाएंगे. इनमें मिथिला पेंटिंग, सिक्की आर्ट, मंजूषा आर्ट, टिकुली आर्ट और पूसा आर्ट का लाइव डेमो दिया जाएगा.

ट्रेनिंग सेशन की हेड और पटना वीमेंस कॉलेज की लेक्चरर गीतांजलि चौधरी बताती हैं कि सात दिनों के ट्रेनिंग सेशन से बिहार की महिलाओं और युवाओं को बिहारी लोकल आर्ट के स्किल्स सिखाए जाएंगे. सभी प्रतिभागियों को ट्रेनिंग पूरा करने  पर प्रमाण पत्र भी दिया जायेगा. इन सभी आर्ट को सिखाने के लिए एक्सपर्ट कलाकारों को बुलाया गया है. बिहार की सभी जगहों से प्रोफेशनल आर्टिस्ट महोत्सव में अपनी भागीदारी देने के लिए 26 दिसंबर से 1 जनवरी को मिलर हाईस्कूल ग्राउंड में जुटेंगे.

बिहारी लोक कलाओं के ट्रेनिंग सेशन से जुड़ी किसी भी प्रकार की जानकारी के लिए आप  9308141491 पर संपर्क कर सकते हैं.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*