BJP सांसद बोले : अमरजीत मामले में CBI जांच की मांग पार्टी के खिलाफ नहीं, सवाल इंसाफ का है

MP-SUSHIL-SINGH
औरंगाबाद के भाजपा सांसद सुशील कुमार सिंह (फाइल फोटो)

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : गुजरात के सूरत में बिहार के गया के युवक अमरजीत की मौत का मामला थमता नहीं दिख रहा है. अमरजीत के बारे में गुजरात सरकार जो कह रही है, उससे उसके परिजन इत्तेफाक नहीं रखते. गुजरात सरकार के अनुसार अमरजीत की मौत बस एक साधारण एक्सीडेंट है, जबकि गया में उसके परिजनों के अनुसार यह एक सुनियोजित हत्या है. अब इस मामले में औरंगाबाद के भाजपा सांसद सुशील कुमार सिंह ने गुजरात सरकार से CBI जांच की मांग कर दी है.

सांसद सुशील कुमार सिंह ने सीबीआई जांच की अपनी मांग के बारे में लाइव सिटीज से बात की. फोन पर उन्होंने कहा कि अमरजीत की मौत के मामले में उनकी बात सूरत के पुलिस कमिश्नर से हुई है. वे इसे एक्सीडेंटल डेथ बता रहे हैं. जबकि मृतक के परिजनों का मानना है कि यह हत्या है. सांसद के अनुसार वे आज सोमवार को गया में पीड़ित परिवार के साथ ही थे, जब अमरजीत का अंतिम संस्कार किया गया. परिजनों ने उनसे काफी डिटेल में बात की है.

गुजरात सरकार के पक्ष में उतरे सुशील मोदी, बोले – गया के अमरजीत की मौत रोड एक्सीडेंट में

सांसद ने बताया कि अमरजीत के परिवार ने उनसे लिख कर मामले की जांच कराने की मांग की है. इसके बाद ही उन्होंने गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपानी को लेटर लिखा है. साथ ही उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को भी लेटर लिख मांग की है कि वे गुजरात सरकार से घटना की सीबीआई जांच कराये जाने का अनुरोध करें.

भाजपा सांसद ने इस सवाल पर कि क्या ऐसा कर वे अपनी ही पार्टी और सरकार के खिलाफ नहीं जा रहे, कहा कि ऐसी कोई बात ही नहीं है. वे सिर्फ पीड़ित परिवार का पक्ष ले रहे हैं. उन्होंने कहा कि बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी वही बात कह रहे हैं, जो उन्हें गुजरात के पुलिस अधिकारियों ने बताई है. मेरी और उनकी बात में कोई विरोधाभास नहीं है. सवाल बस इंसाफ का है. जब जांच होगी तभी सच्चाई सामने आएगी.

सांसद से पूरे मामले के मूल कारण पर उनका नजरिया पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि एक दुखद घटना हुई, जिसके बाद कांग्रेस नेता अल्पेश ठाकोर ने भड़काऊ बयान दिया. यहीं से मामला गुजराती वर्सेज बिहारी हो गया. इसी बयान की वजह से वह सब हुआ, जो नहीं होना चाहिए. लेकिन मामले में गुजरात की सरकार ने तुरंत एक्शन लिया जिससे स्थिति कंट्रोल में आ गई. गुजरात के मुख्यमंत्री ने आज भी कहा है कि उनके राज्य में किसी के साथ अन्याय नहीं होगा. देश भर में कहीं के भी लोग गुजरात में रह सकते हैं. सबके सुरक्षा की जिम्मेवारी गुजरात सरकार की है.

About Anjani Pandey 690 Articles
I write on Politics, Crime and everything else.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*