पूर्णिया में केले का थम्ब अब प्रवासियों को दे रहा रोजगार

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : कोरोना काल में बिहार के पूर्णिया जिले में पहला ऐसा कारखाना खुला जहां बेकार पड़े केले के थम्ब से रेशा बनाया जाएगा. सरकार के औद्योगिक नवप्रवर्तन उद्योग नीति के तहत पूर्णिया जिले के धमदाहा प्रखंड अंतर्गत संझा घाट में केला के बेकार पड़े थम्ब से रेशा बनाने की दो यूनिट लगायी गयी है.

जिलाधिकारी राहुल कुमार ने बताया कि कोरोना काल में बाहर से आए अप्रवासी मजदूरों को 20-20 का ग्रुप बना कर इसके लिए पहले प्रशिक्षण दिया गया. 40 अप्रवासी मजदूरों को फिलहाल रोजगार मिल गया है. नासिक से अलग-अलग तरह की 14 मशीन मंगवा कर इन प्रशिक्षित मजदूरों द्वारा केला के थम्ब से रेशा बनाने का काम शुरु कर दिया गया है.



दक्षिण राज्य में स्थापित कंपनी इन केलों के रेशे खरीदकर इससे कपड़ा, रस्सी समेत कई अन्य चीजें बनाएगी. इससे लोगों को रोजगार और नए तकनीक से अवगत होने का मौका मिलेगा. बिहार में इस तरह के कारखाने खुलने से यहां से होने वाले पलायन पर बड़ा असर पड़ेगा.