बिहार की राजनीति में बड़ी हलचल, चिराग के खिलाफ हुए LJP के 5 सांसद, हम प्रवक्ता दानिश रिजवान ने कही ये बात

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: लोक जनशक्ति पार्टी के पांचों बागी सांसदों ने मिलकर चिराग पासवान को पार्टी के संसदीय दल के नेता पद से हटा दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उनके चाचा पशुपति पारस पासवान को नया नेता चुना गया है. बागी सांसदों ने चिराग को पार्टी का राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष मानने से भी इनकार कर दिया है. आज शाम तीन बजे पशुपति पारस प्रेस कांफ्रेंस कर इस बारे में तस्‍वीर साफ कर सकते हैं.

 लोक जनशक्ति पार्टी में टूट की खबरों के बीच से ‘हम’ की तरफ से पहली प्रतिक्रिया सामने आई है, हम प्रवक्ता दानिश रिजवान ने कहा कि जो लोग सीएम नीतीश के खिलाफ गलत बातें करते हैं, उनके लिए आज बड़ी सीख मिली है. लोजपा में टूट ने ये बता दिया है कि सीएम नीतीश के खिलाफ साजिश रचने वाले कभी कामयाब नहीं होंगे. उनका खुद का घर नहीं संभल्ता तो, वे दूसरे के घर पर कभी भी पत्थर मार देते हैं. आज के दिन बिहार के राजनिती के लिए ऐतिहासिक दिन है. चिराग पासवान के पार्टी के टूटने से यह साबित कर दिया है कि तानाशाही से सभी लोग परेशान थे. दानिश रिजवान कहा कि हमे पूरी उम्मीद है कि है वे केंद्र में मंत्री बनेंगे. और बिहार के विकास के बारे में सोचेंगे.

बगावत करने वाले सांसदों में चिराग के चाचा पशपति पारस पासवान के अलावा चचेरे भाई प्रिंस राज, चंदन सिंह , महबूब अली केशर और वीणा देवी शामिल हैं. लेकिन सोमवार की सुबह खबर आई कि बागी सांसदों ने अलग गुट की बनाने की बजाए पार्टी के संसदीय दल के नेता पद से चिराग को हटाकर पशुपति पारस पासवान को नया नेता बनाने का रास्‍ता चुना है. बागी सांसदों ने चिराग को पार्टी का राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष मानने से भी इनकार कर दिया. उन्‍होंने पशुपति पारस को नया नेता बताया है.