AAP ने राज्यपाल को बताया – फीस पर बिहार के B.Ed कॉलेजों ने आदेश का गलत मतलब निकाला

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार के टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेजों में बीएड की फीस वृद्धि का मुद्दा गरमाता जा रहा है. आज गुरुवार को आम आदमी पार्टी की बिहार इकाई ने भी राज्यपाल लालजी टंडन से इस समस्या को लेकर मुलाक़ात की. AAP की चारा सदस्यीय टीम ने राज्यपाल को एक ज्ञापन भी सौंपा. इस क्रम में पार्टी की स्टूडेंट विंग CYSS के छात्र नेता भूपेंद्र कुमार ने उन्हें बताया कि मामले में बिहार के कॉलेजों द्वारा पटना हाई कोर्ट के निर्णय की गलत व्याख्या की गई है.

कुमार ने बताया कि हाई कोर्ट के आदेश की गलत व्याख्या कर बिहार के लगभग सभी प्राइवेट B.Ed कॉलेज, छात्रों का भविष्य चौपट करने पर तुले हुए हैं. सभी कॉलेजों के प्रबंधक बीएड से संबंधित आदेश की गलत और मनमाने तरीके से व्याख्या कर रहे हैं. आदेश में यह उल्लेख किया गया है कि बीएड के लिए अधिकतम फीस डेढ लाख होगी, ण कि पूरी फीस. फीस का निर्धारण कॉलेजो द्वारा छात्रों को प्रदान किए जाने वाले शैक्षणिक सुविधाओं तथा NCTE के मानकों के आधार पर किया गया है.

पार्टी ने कहा कि बिहार के लगभग सभी B.Ed कॉलेज NCTE के मानकों का पालन करने में विफल हैं. उन्हें मनमाना शुल्क देना वैसा ही है, जैसा बिना बिजली और पानी के उपभोग किए उसका शुल्क अदा करना.

साथ ही राजपाल से यह आग्रह किया गया कि सभी विश्वविद्यालयों के कुलपतियों को कॉलेजों के मानकों की जांच करने का निर्देश दिया जाए, ताकि इसी आधार पर फीस का निर्धारण हो सके. छात्रों के कैरियर को ध्यान में रखते हुए इस प्रशासनिक पहल को जल्द ही अमल में लाते हुए परीक्षा प्रक्रिया शुरू की जाए, ताकि छात्रों के संवैधानिक अधिकारों की रक्षा हो सके.

प्रतिनिधिमंडल ने कॉलेजों में जेंडर सेल तथा शिकायत निवारण कोषांग का कार्यन्वयन करने और कंप्यूटराइज्ड रसीद निर्गत करने की व्यवस्था के मामले पर भी कुलाधिपति से मांग की. वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय में सत्र 2016-18 में बिना कॉउंसलिंग के छात्रों का नामांकन लिए B.Ed कॉलेजों की मान्यता रद्द करने हेतु भी एक ज्ञापन सौंपा गया.

इस दौरान आम आदमी पार्टी के प्रदेश मीडिया प्रभारी बबलू प्रकाश, कुम्हरार विधानसभा क्षेत्र के अध्यक्ष सुयश कुमार ज्योति, सीवाईएसएस के पटना जिलाध्यक्ष मनीष कुमार, वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय के छात्र नेता भूपेंद्र कुमार और विधिक सलाहकार कृष्ण मोहन अधिवक्ता मौजूद थे. राज्यपाल से मुलाक़ात के बाद बबलू प्रकाश ने कहा कि राज्यपाल ने उन्हें जल्द ही उचित कार्यवाई करने का आश्वासन दिया है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*