बिहार विधानसभा चुनाव: LJP ने अखबारों में दिया विज्ञापन, लिखा- धर्म ना जात, करें सबकी बात

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार में विधानसभा चुनाव को लेकर सभी पार्टियों ने कमर कस ली है. लोक जनशक्ति पार्टी द्वारा बिहार 1st बिहारी 1st संकल्प के तहत एक विज्ञापन बिहार के सभी हिंदी- इंग्लिश अख़बारों में दिया गया है. साथ में दिल्ली और मुंबई के महत्वपूर्ण अख़बारों में पार्टी द्वारा विज्ञापन दिया गया है. इसमें लोक जनशक्ति पार्टी ने यह बताया है कि नया बिहार और युवा बिहार बनाने के लिए सभी बिहारी भाइयों-बहनों को युवा बिहारी चिराग पासवान के साथ चलना होगा.

विज्ञापन में नारा दिया गया है कि ‘आयो बनाएं नया बिहार, युवा बिहार चलो चलें युवा बिहार के साथ ‘। लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान शुरू से ही ‘बिहार 1st, बिहारी 1st’ की बात करते नजर आते रहे हैं. इसका जिक्र भी विज्ञापन में किया गया है. इस विज्ञापन में ‘धर्म न जात, करें सबकी बात’ पार्टी के पुराने टैग लाइन को दोहराया गया है.



इस विज्ञापन को देने के पीछे पार्टी की सोच और अपने लाखों कार्यकर्ताओं के संकल्प कि बिहार 1st और बिहारी 1st बनाना है को दोहराया है. पार्टी के विज्ञापन में माता सीता, भगवान महावीर, भगवान बुद्ध, गुरु गोबिंद सिंह साहेब , चाणक्य , चंद्रगुप्त मौर्य , सम्राट अशोक , आर्यभट, शेरशाह सूरी , वीर कुंवर सिंह , महात्मा गांधी राजेंद्र प्रसाद, बाबा साहब, रामधारी सिंह दिनकर, श्री कृष्णा सिंह, जय प्रकाश नारायण कर्पूरी ठाकुर जैसे महान लोगों की प्रेरणा से व इन सभी के आशीर्वाद के साथ युवा बिहारी का कारवां निकलेगा जो बिहार पर नाज़ करने संकल्पित है.

पार्टी ने अपने विज्ञापन में बताया है की बहुत सारे ऐसे लोग हैं जो हम पर राज करने के लिए लड़ रहे हैं, लेकिन मात्र लोक जनशक्ति पार्टी है जो बिहार पर नाज़ करने की लड़ाई लड़ रही है. इस विज्ञापन से युवा बिहारी चिराग पासवान की अपेक्षा है की सभी बिहारी, बिहार को 1st और बिहारी को 1st बनाने के लिए साथ आए और नया बिहार और युवा बिहार के बनाने में योगदान दें. लोजपा ने अपने सभी सांसद व विधायक के साथ सभी ज़िला प्रभारी,ज़िला अध्यक्ष, पार्टी जो लोग चुनाव लड़ना चाहते हैं उन्हें इस विज्ञापन में जगह दी है.

चुनावी मोड में आ चुकी लोजपा ने संगठन में भी कुछ बदलाव कर दिया है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष प्रिंस राज ने राज्य के पांच जिलों में नया अध्यक्ष को पार्टी की जिम्मेवारी दी है. इसी के साथ पूर्व से काम कर रहे जिलाध्यक्षों को प्रदेश कार्यकारिणी में शामिल किया है. इसके अलावा उन्होंने अपने सभी 40 सांगठनिक जिलों में एक- एक प्रधान महासचिव का भी पद बना दिया और उन पदों पर नये लोगों को मनोनीत कर दिया.