बेउर जेल में बंद बेनार नरसंहार के दोषी मुनेश्वर की मौत, ब्रेन स्ट्रोक के बाद PMCH में थे भर्ती

beur-jail1456
फाइल फोटो

लाइव सिटीज, पटना : नालंदा जिला के बेनार नरसंहार के दोषी मुनेश्वर प्रसाद की मौत हो गई है. रविवार की सुबह ब्रेन स्ट्रोक आया था. जिसके बाद तुरंत इलाज के लिए बेउर जेल से पीएमसीएच ले जाया गया. जहां इला​ज के दौरान उनकी मौत हो गई. 80 साल के मुनेश्वर पिछले 6 साल से पटना के बेउर जेल में सजा काट रहे थे.

साल 2004 में 5 जून की देर रात नालंदा जिले के बेनार में नरसंहार हुआ था. हथियार से लैस एक दर्जन से अधिक अपराधियों ने धावा बोला था. ईंट भट्टा के मालिक पंकज कुमार उनके पिता समेत 16 लोगों की दर्दनाक तरीके से हत्या कर दी गई थी. इसमें ईंट भट्टा में काम करने वाले कई मजदूर भी थे. जिन्हें बेवजह मौज की नींद सुला दी गई थी.

गौरतलब है कि रंगदारी की रकम नहीं देने के कारण नालंदा के अस्थावां थाना के तहत बेनार में इस नरसंहार को अंजाम दिया गया था. इसी मामले में मुनेश्वर प्रसाद को गिरफ्तार किया गया था. नरसंहार का मुख्य दोषी मानते हुए कोर्ट ने मुनेश्वर को आजीवन कारवास की सजा सुनाई थी. आजीवन कारवास की सजा मिलने के बाद इसे भागलपुर की जेल में रखा गया. लेकिन साल 2011 में इसे पटना के बेउर जेल भेज दिया गया था.

बीएन कॉलेज मामला : जांच रिपोर्ट है तैयार, सोमवार को तलब हुए हैं प्रिंसिपल और सुपरिटेंडेंट
पटना में हैं रवीश कुमार, कह रहे हैं- यहां बातचीत से चहचाहट ग़ायब है

आपको बता दें कि बेनार नरसंहार मामले में मुनेश्वर प्रसाद अकेला दोषी नहीं था. इस मामले में उसके तीन बेटों अजय, विजय और धनंजय ने भी पूरा साथ दिया था. पुलिस ने इन तीनों को भी गिरफ्तार किया था. पिता के साथ ही तीनों बेटे भी जेल में सजा काट रहे हैं. ये तीनों भी बेउर जेल में कैद हैं.

देखें वीडियो, सांसद पप्पू यादव ने कह दी है हर आदमी के मन की बात…

VIDEO : छपरा में तिरंगे के नीचे अश्लील ठुमके…

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*