‘मैंने नंदन गांव के लोगों पर कार्रवाई को नहीं कहा, DGP को सभी को छोड़ने का दिया है निर्देश’

NITISH-KUMAR
बिहार CM नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

लाइव सिटीज, पटना : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज विपक्ष पर तंज करते हुए कहा कि सोशल मीडिया का माहौल बहुत ‘अन-सोशल’ हो गया है. उन्होंने कहा कि आजकल सोशल मीडिया पर बहुत अन-सोशल बहसें होती हैं. ट्वीट करने के लिए भी लोग रखे जाते हैं. जिन्हें राजनीति की ABCD नहीं आती, वे राजनीतिक एक्सपर्ट बन जाते हैं. नीतीश कुमार ने यह बयान आज बुधवार को राजधानी पटना में जदयू के कर्पूरी जयंती समारोह में दिया है. उनका इशारा साफ़ तौर पर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव थे.

इस दौरान रांची सीबीआई स्पेशल कोर्ट द्वारा राजद प्रमुख लालू प्रसाद को चारा घोटाले के एक मामले में 5 साल की सजा सुनाये जाने के फैसले पर भी नीतीश कुमार से सवाल किया गया. नीतीश ने इस सवाल का जवाब देने से इंकार कर दिया. उन्होंने कहा कि ये कोर्ट का मामला है, इसमें कोई क्या कर सकता है. हमलोग इस मामले में राजनीति नहीं करते.

उन्होंने आगे कहा कि हम अपना काम करते हैं और बिहार के विकास की बात करते हैं. इस मामले में किसी तरह का कोई समझौता नहीं कर सकते. भ्रष्टाचार और न्याय के साथ विकास हमारा नारा है और हम इस पर मरते दम तक कायम रहेंगे. मुख्यमंत्री ने इस दौरान बक्सर के नंदन गांव में समीक्षा यात्रा के दौरान उनके काफिले पर हुए हमले मामले में भी प्रतिक्रिया दी.

नंदन गांव मामले पर बोले

बक्सर के नंदन गांव मामले पर उन्होंने कहा कि वहां के लोगों को कुछ स्वार्थी तत्वों द्वारा गुमराह किया गया था. इस मामले में मैंने ग्रामीणों पर कड़ी कार्रवाई करने जैसा कोई आदेश नहीं दिया है. उन्होंने कहा कि हम तो वहां महिलाओं से मिलना चाहते थे, लेकिन लोगों ने पथराव कर दिया. मैंने डीजीपी से कहा है कि बिना जांच के किसी को न पकड़ा जाए. अगर किसी को पकड़ा गया है तो उन्हें छोड़ दिया जाए.

मालूम हो कि नंदन गांव में मुख्यमंत्री के काफिले पर हुए हमले के बाद पुलिसिया कार्रवाई पर राजनीति गरमा गई थी. विपक्ष ने पुलिसिया कार्रवाई में दलितों-महादलितों को परेशान किये जाने का आरोप लगाया था. पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने भी इस मामले में पुलिसिया कार्रवाई पर सवाल उठाये थे.

क्या कहा था तेजस्वी ने

लालू प्रसाद को आज सजा सुनाये जाने के बाद उनके बेटे बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने सीधे तौर पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को निशाने पर लिया है. उन्होंने कहा है लालू प्रसाद को फंसाने का काम नीतीश कुमार ने किया है. वहीं उन्होंने कहा कि सीबीआई कोर्ट का फैसला कोई अंतिम फैसला नहीं है. हम हाईकोर्ट जाएंगे. अगर जरूरत पड़ी तो सुप्रीम कोर्ट का भी दरवाजा खटखटाएंगे. उन्होंने इस दौरान लालू प्रसाद को जनता का हीरो करार दिया.

About Anjani Pandey 571 Articles
I write on Politics, Crime and everything else.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*