नियोजित शिक्षकों का मामला सुप्रीम कोर्ट में हुआ लिस्टेड, 19 सितम्बर को होगी सुनवाई

supreme-court
फाइल फोटो

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार के करीब चार लाख नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर है. सुप्रीम कोर्ट में उनके समान काम समान मामले में चल रही सुनवाई की नई तारीख तय हो गई है. मिली जानकारी के अनुसार सुप्रीम कोर्ट में नियोजित शिक्षकों का केस बुधवार 19 सितम्बर के दिन लिस्टेड हो गया है. इस केस की पूर्व से सुनवाई कर रहे दोनों जज जस्टिस अभय मनोहर सप्रे और जस्टिस यूयू ललित की बेंच ही 19 सितम्बर को सुनवाई करेगी. बिहार माध्यमिक शिक्षक संघर्ष समिति, मुंगेर बनाम बिहार सरकार का यह मामला कोर्ट नंबर 11 में आइटम नंबर एक के तौर पर लिस्ट हुआ है.

मालूम हो कि मामले में छह सितंबर को हुई आखिरी सुनवाई के बाद मंगलवार 11 सितम्बर को होनेवाली अगली सुनवाई को कोर्ट नंबर 11 के केस लिस्ट में शामिल ही नहीं किया गया था. साथ ही सुनवाई कर रहे दोनों जजों को भी अलग-अलग बेंचों में दूसरे जजों के साथ बिठा दिया गया था. इसके बाद बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ के वकीलों ने संयुक्त रूप से सुप्रीम कोर्ट में इसके लिए मेंशन किया था. अब 19 सितम्बर को होने वाली यह सुनवाई संभवतः आखिरी होगी, और फिर सुप्रीम कोर्ट की बेंच मामले में अपना फैसला सुनाएगी.

शिक्षकों का बकाया भुगतान 15 दिनों में करेगा BSEB, आनंद किशोर ने संघ को दिया आश्वासन

इससे पहले 19वें दिन छह सितंबर को सुनवाई की समाप्ति पर खंडपीठ ने मौखिक व लिखित आदेश में सुनवाई की अगली तारीख 11 सितंबर को निर्धारित किया था. पीठ ने निर्देश दिया था कि उस दिन महान्यायवादी अपनी बात को पूरी करेंगे तथा शिक्षक संगठनों के शेष अधिवक्ताओं को भी समय दिया जायेगा तथा ये सुनवाई समाप्त की जायेगी.

शिक्षक संघों के वकीलों ने की थी अपील

मालूम हो कि सोमवार 10 सितम्बर को शिक्षक संघों के वकीलों ने कोर्ट नंबर 9 में इस केस की सुनवाई कर रहे जस्टिस अभय मनोहर सप्रे एवं उदय उमेश ललित के सामने अपील की थी. कहा गया था कि आप दोनों के द्वारा ही 11 सितंबर को सुनवाई की तिथि निर्धारित की गई थी, लेकिन 8 सितंबर (शनिवार) को जारी केस लिस्ट में अचानक यह केस दिनांक 11 सितंबर को सूचीबद्ध नहीं किया गया. इस पर दोनों ने आपस में विचार-विमर्श कर आश्वासन दिया कि केस के सूचीबद्ध नहीं होने के कारणों की जानकारी रजिस्टार जनरल कार्यालय से लेंगे साथ ही आश्वासन दिया कि सुनवाई की अगली तिथि निर्धारित करने पर 11 सितंबर को फैसला करेंगे.

पटना हाई कोर्ट ने सरकार से पूछा- कब भरे जाएंगे निगमों और बोर्डों के खाली पड़े पद

अंतिम स्टेज में है सुनवाई

इससे पहले दोनों जजों की खंडपीठ ने सुनवाई की अगली तारीख 11 सितंबर को निर्धारित करते हुए निर्देश दिया था कि पहले अटॉर्नी जनरल अपनी बात को पूरी करेंगे. फिर शिक्षक संगठनों के शेष वकीलों को भी समय दिया जायेगा तथा यह सुनवाई समाप्त की जाएगी. हालांकि शनिवार को सामने आई साप्तहिक केस लिस्ट के अनुसार 11, 12 व 13 सितंबर में नियोजित शिक्षकों को समान काम के बदले समान वेतन मामले की सुनवाई कोर्ट नंबर-11 में लिस्टेड नहीं थी. साथ ही सुनवाई कर रहे दोनों जजों को भी अलग-अलग बेंचों में दूसरे जजों के साथ बिठा दिया गया था.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*