DGP पीके ठाकुर बोले – बिहार में सिपाही और दारोगा भर्ती में स्पोर्ट्स कोटा भी

पटना (अजित) : बिहार के DGP प्रमोद कुमार ठाकुर ने बताया है कि सूबे में अब सिपाही और दारोगा भर्ती में 1 प्रतिशत स्पोर्ट्स कोटे से होगी. उन्होंने कहा कि 10 हजार सिपाही की लिखित परीक्षा चल रही है. इस भर्ती के आलोक में स्पोर्ट्स कोटे से एक प्रतिशत यानी 100 सिपाही की भर्ती होगी. सरकार इसके लिए अलग से विज्ञापन निकालने जा रही है. वहीँ 1700 दारोगा की बहाली में 17 दारोगा की बहाली स्पोर्ट्स कोर्ट से होगी. DGP ने आज शनिवार को राजधानी के फुलवारी शरीफ स्थित बीएमपी-5 के मिथिलेश स्टेडियम में 36वां अखिल भारतीय अश्वरोही खेलकूद प्रतियोगिता का शुभंकर रिलीज करते हुये ये बातें कही.

DGP ठाकुर ने इस मौके पर अश्वरोही दस्ते का इतिहास बताते हुये कहा कि साल 1917 में भोजपुर के पीरो में सांप्रदायिक दंगे भड़के थे. सांप्रदायिक दंगे को रोकने के लिए हैदराबाद के निजाम से पांच अश्वरोही दस्ते आये और प्रभावित इलाकों में भेजकर दंगे को शांत किया गया. बाद में इस दस्ते के महत्व को देखते हुये एक बटालियन का गठन कर दिया गया. इसका मुख्यालय आरा है.



उन्होंने कहा कि अश्वरोही दस्ते की पटना, भागलपुर, दरभंगा में भी एक-एक बटालियन है. अनियंत्रित भीड़ को इस दस्ते के माध्यम से रोका जाता है. लोगों में विश्वास होता है कि अश्वरोही दस्ते के आ जाने से हालत काबू में होगा. इसके अतिरिक्त 15 अगस्त और 26 जनवरी को अश्वरोही दस्ता अतिथियों की अगुवाई करता है और सलामी देता है.

DGP ने शुभंकर रिलीज करते हुये बताया कि इस बार अश्वरोही शुंभकर है. उन्होंने कहा कि लोग केवल सोनपुर मेला में घोड़े की दौड़ देखते हैं. इस बार घोड़ों का एक से बढ़कर एक खेल देखने को मिलेगा.

उन्होंने बिहार अश्वरोही दस्ते को शुभकामना देते हुये कहा कि इन जवानों ने बहुत ही अच्छा प्रशिक्षण प्राप्त किया है. हर साल की तरह इस साल भी अच्छी संख्या मे पदक जीतेंगे. इससे पहले भी बिहार पुलिस ने कई राष्ट्रीय खेलों का सफलतापूर्वक आयोजन किया है. इस मौके पर डीजी होमगार्ड पीएन राय, एडीजीपी सुनील कुमार, एडीजीपी आलोक राज समेत तमाम पुलिस अधिकारी मौजूद थे.

बता दें कि आॅल इंडिया अश्वरोही खेलकूद प्रतियोगिता 28 दिसंबर से शुरू होकर दस दिनों तक चलेगी. इस प्रतियोगता में देश के सभी राज्यों के पुलिस दल और विशेषकर इंडिया पुलिस एकेडमी भी भाग ले रही है.