लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार सरकार के कर्मियों को दिवाली-छठ से पहले अक्तूबर माह के वेतन और केन्द्र सरकार की तर्ज पर 5 प्रतिशत बढ़ी हुई दर से महंगाई भत्ता के नकद भुगतान कर तोहफा देने की तैयारी में सरकार जुट गई है. उपमुख्यमंत्री सह वित्तमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बताया कि दिवाली-छठ से पूर्व 25 अक्टूबर से राज्य कर्मियों को अक्टूबर माह का वेतन भुगतान प्रारंभ करने का निर्देश दिया गया है.

इसके लिए सीएफएमएस के तहत 18 अक्टूबर से आॅनलाइन वेतन विपत्र प्रस्तुत कर संबंधित कोषागार पदाधिकारियों को आवश्यक कार्रवाई करते हुए 25 अक्तूबर से वेतन भुगतान प्रारंभ करने का निर्देश दिया गया है. मालूम हो कि राज्यकर्मियों को प्रत्येक महीने की पहली तारिख से वेतन भुगतान किया जाता है, मगर इस साल दिवाली-छठ के मद्देनजर त्योहार से पूर्व उन्हें वेतन भुगतान किया जायेगा.

केन्द्र सरकार द्वारा अपने कर्मियों को 01 जुलाई, 2019 से 12 की जगह 17 प्रतिशत महंगाई भत्ता देने के निर्णय के बाद नीतिगत रूप से उसके अनुरूप राज्य सरकार के पेंशनधारियों व पारिवारिक पेंशनभोगियों को भी उसी तिथि और दर से महंगाई भत्ता का नकद भुगतान करने का निर्देश वित्त विभाग को दिया गया है. इससे राज्य सरकार पर 1,048 करोड़ का अतिरिक्त व्यय भार संभावित है.

ये भी पढ़ें : पटना हाईकोर्ट के अधिवक्ता राजीव लोचन की डेंगू से मौत, असामयिक निधन पर जज- वकीलों में शोक

ये भी पढ़ें : पटना में मॉर्निंग वॉकर्स के लिए बुरी खबर, तीन दिनों तक बंद रहेगा जू