बिहार सरकार का हज यात्रियों के लिए ख़ास बंदोबस्त, 4 जुलाई को रवाना होगा पहला जत्था

लाइव सिटीज,सेंट्रल डेस्क: बिहार से इस बार हज पर जाने वाले यात्रियों के लिए बिहार सरकार ने कई ख़ास इन्तेजाम किये है. गुरुवार को पटना के हज भवन में आयोजित  हज अभियान- 2019 उच्चस्तरीय समीक्षात्मक बैठक  के बाद बिहार सरकार के  अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री खुर्शीद आलम उर्फ फिरोज अहमद ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि इस साल सूबे से करीब 4950 यात्री हजयात्रा पर जायेंगे, जिसमे पुरुष 2895 और महिलायें 2053 है. उन्होंने बताया कि 1408 लोग कोलकाता से जबकि 3542 यात्री गया से उड़ान भरेंगे.

बिहार सरकार के  अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री खुर्शीद आलम ने मीडिया से बातचीत में कहा कि 4 जुलाई को हज यात्री का पहला दस्ता रवाना होगा, इसको लेकर 3 तारीख को शाम साढे सात बजे हज भवन में होने वाले कार्यक्रम में बिहार के सीएम  नीतीश कुमार मुख्य अतिथि के रूप में शामिल होंगे. उन्होंने कहा कि सीएम नीतीश कुमार इसको लेकर गंभीर हैं और खुद अपनी निगरानी सारी व्यवस्था देखते हैं.

उन्होंने बताया कि सीएम नीतीश कुमार ने हज भवन में पेयजल से लेकर हज भवन के बाहर ट्रैफिक की किसी भी तरह की कोई समस्या नहीं हो इसको लेकर ख़ास व्यवस्था की है. उन्होंने बताया कि बिहार के हर कोने से हज यात्री हज भवन पहुंचेंगे, उन्हें किसी भी तरह की कोई समस्या नहीं होगी. गया जाने के दौरान हज यात्रियों के गाड़ी  के साथ पुलिस एस्कोर्ट भी होगी ताकि रास्ते में किसी भी तरह की कोई समस्या नहीं हो. इस दौरान अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री खुर्शीद आलम  ने कहा कि बिहार सरकार ने हज यात्रियों के लिए बेहतर सुविधा की है. उन्होंने दावा किया कि जैसी व्यवस्था बिहार सरकार ने हज यात्रियों के लिए जिस तरीके की व्यवस्था की है, वी व्यवस्था देश में कहीं नहीं हुई होगी.

आपको बता दें कि पटना के हज भवन में गुरुवार को बिहार सरकार के अल्संख्यक कल्याण विभाग मंत्री  खुर्शीद उर्फ फिरोज अहमद की अध्यक्षता में हज अभियान- 2019 उच्चस्तरीय समीक्षात्मक बैठक की गई. इस मौके पर अपर मुख्य सचिव अमीर सुबहानी, मो. राशिद हुसैन सहित कई अधिकारी मौजूद रहे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*