पटना के आसरा होम में दो युवतियों की मौत, सचिव का दावा- विभाग को दी थी जानकारी

पटना : राजीव नगर के 90 फिट इलाके में चल रहे आसरा होम्स की रहने वाली एक महिला और एक लड़की की मौत हो गई है. दो लोगों की मौत का ये मामला शुक्रवार की रात का है. लेकिन सामने अब आया है. इस मामले के सामने आने के बाद से पटना में सनसनी मची हुई है. महिला की उम्र 35-40 साल के बीच और लडकी की उम्र 18 साल है. आपको बता दें की शुक्रवार को ही आसरा होम्स राजधानी के अंदर सुर्खियों में आया था. आसरा होम्स में रह रही एक लड़की को भगाने की कोशिश हुई थी. जिसमें पड़ोसी राम नगीना सिंह उर्फ बनारसी को राजीव नगर थाना की पुलिस ने गिरफ्तार किया था.

इलाज के दौरान हुई मौत

महिला और लड़की की मौत का मामला इसी दिन की रात का है. आसरा होम्स के सचिव चिरंतन कुमार के अनुसार रात के 8 बजे के करीब दोनों की तबीयत खराब हुई. दोनों को इलाज के लिए PMCH लाया गया. हॉस्पिटल पहुंचते ही महिला को डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया. जबकि लडकी को वेंटिलेटर पर ले जाया गया. फिर इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. सचिव की मानें तो महिला अप्रैल 2018 में और 1 अगस्त को लडकी आसरा होम्स में आई थी.

यह भी पढ़ें : पटना के शेल्टर होम में 2 युवतियों की मौत, समाज कल्याण विभाग और पुलिस को नहीं दी जानकारी

दोनों का इलाज पहले से चल रहा था

सचिव का दावा है कि बीमार हालत में ही दोनों को इनके आसरा होम्स में भेजा गया था. दोनों का इलाज पहले से चल रहा था. लेकिन दोनों को बीमारी क्या थी? ये बता नहीं पाए. कहा जा रहा है कि आसरा होम्स ने महिला और लड़की के मौत की जानकारी किसी को नहीं दी थी. हालांकि सचिव ने दावा किया है कि उन्होनें समाज कल्याण विभाग के अधिकारी, बाल संगठन के सहायक निदेशक दिलीप कुमार कामत व दूसरे अधिकारियों को ई मेल और कॉल कर इस बात की जानकारी दी थी.

इन्होंने पटना सदर के SDM को भी जानकारी दी. जिसके बाद एक मजिस्ट्रेट की नियुक्ति हुई. मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में ही PMCH में पोस्टमार्टम कराया जा रहा है. दोनों की मौत कैसे हुई है, इस बात की जांच चल रही है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आने के बाद ही असलियत सामने आएगी.

IGIMS हॉस्पिटल में हुआ है बड़ा खेल, नियमों को ताक पर रख SIS को दिया सिक्योरिटी का जिम्मा

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*