चंपारण-मधुबनी के बाद अररिया में बाढ़ का खतरा, परमान नदी का जलस्तर बढ़ा

अररिया, परमान नदी, बिहार, बिहार समाचार, बिहार न्यूज़, बिहार हिंदी न्यूज़, बिहार बाढ़, नेपाल, बारिश, मधुबनी, चंपारण, Bihar, bihar flood, bihar hindi news, madhubani, champaran

लाइव सिटीज डेस्क : मानसून के साथ बिहार में बाढ़ का कहर शुरू हो गया है. नेपाल के जल ग्रहण वाले इलाकों में भारी बारिश के कारण वहां से निकलने वाली नदियां ऊफना गईं हैं. इससे चंपारण से कोसी तक कई इलाकों में बाढ़ का पानी चढ़ गया है. इससे वहां बाढ़ जैसी स्थिति हो गई है. अब बिहार के अररिया में फारबिसगंज प्रखंड क्षेत्र के पिपरा में परमान नदी उफान पर है जिसकी वजह से फारबिसगंज को पलासी और कुर्साकांटा से जोड़ने वाली एक मात्र चचरी का पुल भी बह गया है.

बाढ़ का खतरा मंडराने लगा

परमान नदी का जलस्तर बढ़ने से खासकर खबासपुर, कौआचार, रमई, खैरखां, खमकौल, रानीगंज, कुशमाहा, पीपरा, ओसरी, रामगंज, नीरपुर, अमौना, बघुआ, पोटरी, बाधमारा, कामता, बलियाडीह, अम्हारा, गुर्मी आदि गांवों के लोगों के सामने बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है. अस्थायी चचरी पुल बह जाने की वजह से लोग जान को जोखिम में डाल नदी पार करने को मजबूर हैं.

नदी में कटाव जारी है

विकल्प के तौर पर इन घाटों पर नाव जरूर चल रही है, मगर क्षमता से अधिक भार ढोने के कारण नावों का यह सफर जानलेवा हो गया है. फारबिसगंज के बधुआ घाट पर छोटी नाव दिए जाने को लेकर ग्रामीणों में आक्रोश है. लोगों का कहना है कि इन घाटों पर पानी का रेत तेज है तथा नदी में कटाव जारी है. ऐसे में छोटा नाव जानलेवा हो सकता है.

मधुबनी एनएच-104 बंद

वहीं, मधुबनी जिले के लदनियां प्रखंड में भी बाढ़ का असर दिखने लगा है. एक ओर जहां धौरी नदी का पानी सड़क पर चढ़ने से डायवर्सन टूट गया, वहीं बारिश से सड़क का कटाव होने से एनएच-104 बंद कर दिया गया है. मधुबनी जिले के लदनियां थाना क्षेत्र के तेनुआही से जयनगर तक जानेवाली एनएच-227 पर योगिया और पद्मा गांव के बीच बाढ़ का पानी आने के कारण धौरी नदी पर तत्काल यातायात को लेकर बनाया गया डायवर्सन टूट गया है.

यह भी पढ़ें : बिहार में बाढ़ का कहर शुरू : चंपारण में पानी से घिरे दर्जनों गांव, मधुबनी में NH-104 बंद

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*