बिहार के इस गांव में ‘टॉयलेट एक प्रेम कथा’ पार्ट-2, शौचालय न होने पर छोड़ा ससुराल

लाइव सिटीज डेस्क : अक्षय कुमार की फिल्म टॉयलेट एक प्रेम कथा की कहानी तो पता ही होगी. जिसमे घर में शौचालय ना होने पर अक्षय की नई नवेली दुल्हन ससुराल छोड़ कर चली जाती है और जब तक घर में शौचालय नहीं बन जाता वह वापस नहीं आती. कुछ ऐसा ही मामला बिहार के भागलपुर जिले में सामने आया है, भागलपुर के नारायण पुर प्रखंड में एक पत्नी ने पति को धमकी दी कि शौचालय नहीं बनवाओगे तो मैं तुम्हें छोड़कर चली जाऊंगी. धमकी का असर ना होता देख महिला ने सच में घर छोड़ दिया और अपने बच्चों के साथ मायके चली गई.

गौरतलब है कि भागलपुर जिले के नारायणपुर प्रखंड के निवासी लालो साह की शादी तीन साल पहले खगड़िया जिले के बैकुंठपुर गांव की रहने वाली विनीता देवी से हुई थी. शादी के बाद जब विनीता ससुराल आई तो उसे पता चला कि उसके ससुराल में शौचालय नहीं है तो उसने अपने पति पर शौचालय बनाने का दबाव बनाना शुरू किया. मगर, गरीबी और अशिक्षा के कारण उसका पति रोज बहाने बनाता रहा. अंत में परेशान विनीता देवी ने ससुराल छोड़ने का फैसला किया और अपने बच्चों के साथ मायके चली गई.



इधर, पत्नी के मायके चले जाने के बाद से उसका पति काफी परेशान है. बीते एक साल से अपनी पत्नी को वह लगातार मनाने की कोशिश कर रहा है, लेकिन, विनीता ने साफ शब्दों में कह दिया है कि जब तक ससुराल में शौचालय नहीं बनेगा तब तक वह ससुराल में कदम नहीं रखेगी. हालांकि, इस मामले में पति ने बहाना बनाया है कि मुझे मजदूरी नहीं मिल रही है. कभी-कभी काम मिलता है, लेकिन सारा पैसा खाने-पीने में खर्च हो जाता है और इसी वजह से वह शौचालय का निर्माण नहीं करा पाया. लेकिन उसने कहा है कि जल्द ही शौचालय बनाकर विनीता को वापस बुला लिया जायेगा.

बिहार के सीतामढ़ी में बनेगा सीता मंदिर, बीजेपी सांसद का यह नया एजेंडा

इस मामले में गांव वालों का कहना है कि घर में शौचालय नहीं होने की वजह से गांव की महिलाओं को शौच के लिए बाहर जाना पड़ता है. ऐसे में कई घटनाओं के साथ-साथ बदनामी भी होती है. विनीता के इस कदम को गांव वाले भी सही बता रहे हैं और उसके पति को कहा है कि जल्द शौचालय बनवाकर विनीता को घर बुला ले. साथ ही गांव के हर घर में शौचालय बने.