बिहार में सवर्णों का बवाल : हिरासत में लिए गए बंद समर्थक, BJP नेताओं को खबर तक नहीं

भारत बंद, नरेंद्र मोदी, एससी-एसटी ऐक्ट, upper caste, SC-ST Act, bharat bandh, भारत बंद, sc/st act, एसी एसटी एक्ट, Bharat Bandh, Upper caste, बिहार, पटना, बीजेपी, मुजफ्फरपुर, राजद, जदयू

लाइव सिटीज डेस्क: सवर्णों ने एससी/एसटी एक्ट के खिलाफ आज भारत बंद बुलाया है. इसको लेकर बिहार के कई जिलों में सवर्णों ने बवाल काटा है. भारत बंद समर्थकों ने रेल, रोड जाम कर आगजनी की. भारत बंद समर्थकों ने राजधानी पटना में भी कई जगह यातायात बाधित कर दिया. वहीं स्वर्ण सेना के कार्यकर्ताओं ने राजेन्द्र नगर टर्मिनल पर ट्रेनें रोक दी. काफी देर तक उन्होंने रेलवे ट्रैक जामकर दिया. इसकी वजह से काफी देर तक पटना-कोलकाता ट्रेन जंक्शन पर ही रुकी रही. जिसके बाद पुलिस ने दर्जनों कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया.

प्रदर्शनकारी लाठी-डंडे के साथ बीजेपी कार्यालय के बाहर धरने पर बैठे हैं. सभी प्रदर्शकारी केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर रहे हैं. उनका कहना हैं कि जबतक सरकार अपने फैसले को वापस नहीं लेती, उनका आंदोलन जारी रहेगा. वहीं, प्रदर्शन को देखते हुए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम भी किए गए हैं. बीजेपी कार्यालय की सुरक्षा खासतौर पर बढ़ा दी गई है. पार्टी कार्यालय में अतिरिक्त सुरक्षा बलों की तैनाती की गई है.

विपक्ष कर रहा बंद का विरोध

विपक्ष में राजद इस बंद का पुरजोर विरोध कर रहा है. तो वहीं सत्ता पक्ष के नेताओं के सुर अलग हैं. लेकिन इस पुरे मामले पर बीजेपी ने चुप्पी साध रखी है. बिहार बीजेपी के मंत्रियों इस मामले से पल्ला झाड़ लिया है. उनका कहना है मुझे भारत बंद की जानकारी नहीं है. बिहार बीजेपी के मंत्री मंगल पांडे और प्रमोद कुमार ने कहा कि उन्हें इस बंद के बारे में कोई जानकारी नहीं हैं.

क्या कहा मंगल पांडेय ने

बीजेपी नेता और बिहार सरकार में स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने कहा है कि मुझे ऐसे किसी आंदोलन की जानकारी नहीं है. मंगल पांडे ने कहा कि केंद्र सरकार सभी वर्गों का साथ और विकास चाहती है और सब के लिए सरकार काम कर रही है. पूछे जाने पर कि पार्टा के वरिष्ठ नेता कलराज मिश्र ने भी सवर्णों का समर्थन किया है. इस पर मंत्री ने कहा कि मुझे इस बारे में भी कोई सूचना नहीं है.

क्या कहा  प्रमोद कुमार ने

वहीं, पर्यटन मंत्री प्रमोद कुमार ने भी कहा कि ऐसे किसी आंदोलन की जानकारी मुझे नहीं है. उन्होंने कहा कि जहां तक सवाल विरोध करने का है तो सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद केंद्र सरकार ने कानून बना दिया है. उसका सबको सम्मान करना चाहिए.

क्यों मचा है बवाल

एससी/एसटी एक्ट केंद्र सरकार के लिए गले का फांस बन गई है. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद पहले तो दलितों ने देशव्यापी आंदोलन किया और सरकार को झुकना पड़ा अब सवर्णों ने सरकार के खिलाफ आंदोलन का ऐलान कर दिया है. सवर्ण समुदाय सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लागू करवाने को लेकर देशव्यापी आंदोलन कर रहे हैं. सवर्णों की मांग है कि एससी एसटी एक्ट को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने जो फैसला दिया था उसे लागू किया जाए.

क्या है बीजेपी का स्टैंड

स्पष्ट है कि दोनों ने बंद को लेकर अपना स्टैंड साफ कर दिया. बीजेपी के नेताओं को सवर्णों द्वारा बुलाए गए बंद को लेकर किसी तरह की जानकारी नहीं है. भाजपा ना ही उनके पक्ष में खड़ा होना चाहती है ना ही उनका विरोध करना चाहती है लिहाजा पार्टी नेता जानकारी होने से इनकार कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें – भारत बंद : आखिर किस बात पर है सवर्ण संगठनों की नाराजगी? क्या है SC/ST एक्ट?

सवर्णों के भारत बंद पर बिहार में सत्ता पक्ष के अलग सुर, राजद ने बताया दलित विरोधी

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*