बेगूसराय के बाद मोतिहारी में ‘ज़हर’ बना पूजा का प्रसाद, 50 बीमार, दस बच्चों की हालत नाजुक

east champaran, health,children, sick, News, bihar News, East Champaran, Bihar hindi news, बिहार हिंदी न्यूज़, पश्चिम चंपारण, बिहार, मोतिहारी, विश्वकर्मा पूजा, पूजा प्रसाद , Motihari

लाइव सिटीज डेस्क: अभी दो दिन पहले बेगूसराय में विश्वकर्मा पूजा का प्रसाद खाने से 100 से अधिक लोग बीमार पड़ गये थे. अब मामला मोतिहारी का है. पूर्वी चंपारण में विश्वकर्मा पूजा में प्रतिमा विर्सजन के दौरान प्रसाद खाने से चालीस बच्चे समेत पचास लोग बीमार हो गये. दस बच्चों की हालत नाजुक होने की वजह से उन्हें इलाज के लिए मुजफ्फरपुर में भर्ती कराया गया है. बाकी बच्चों समेत अन्य बीमार लोगों को चकिया के विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया है.

विश्वकर्मा प्रतिमा विसर्जन में बंटा था प्रसाद

दरअसल, चकिया थाना क्षेत्र के बैशाहा गांव में बुधवार की शाम गांव के एक कारखाने में विश्वकर्मा पूजा के बाद शिव चर्चा का आयोजन किया गया था. जिसकी समाप्ति पर विश्वकर्मा प्रतिमा के विसर्जन को लेकर पहुंचे बच्चों और अन्य लोगों के बीच प्रसाद वितरण किया गया. जिसे खाने के बाद लोगों की हालत बिगड़ने लगी. प्रसाद खाने वाले लोग उल्टियां करने लगे और उनपर बेहोशी छाने लगी.

10 बच्चों की हालत नाज़ुक

लिहाजा, पूरे गांव में अफरा-तफरी मच गई. स्थानीय लोगों ने बीमार लोगों को अस्पताल पहुंचाया. जिनमें दस बच्चों को गंभीर अवस्था में मुजफ्फरपुर भेज दिया गया. कयास लगाये जा रहे हैं कि प्लास्टिक के पैकेट में बुनिया और अन्य प्रसाद पैक किये गये थे. जो प्लास्टिक के चलते जहरीले हो गये. फिलहाल सभी बीमार खतरे से बाहर बताये जा रहे हैं.

बता दें की 18 सितंबर को बेगुसराय में छौड़ाही प्रखंड क्षेत्र के पताही गांव में विश्वकर्मा पूजा के मौके पर प्रसाद खाने से 150 लोगों को फूड प्वाइजनिंग हो गया था. इस बीमारी से आक्रांत लोगों को खोदावंदपुर, छौड़ाही, रोसड़ा, बेगूसराय आदि स्थानों के अस्पताल में भर्ती कराया गया.

यह भी पढ़ें- बेगूसराय में ताबड़तोड़ फायरिंग, NH-31 के किनारे लाइन होटल में भिड़ गए दो गुट

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*