क्रिसमस और न्यू ईयर पर पटना से उड़ान भरना होगा महंगा

पटना : अगर आप क्रिसमस और न्यू ईयर पर पार्टी करने के लिए पटना से बाहर जाने के लिए हवाई सफ़र करना चाहते हैं तो यह आपके लिए बुरी खबर है. क्रिसमस और न्यू ईयर पर हवाई टिकट के दाम आसमान छूने लगे हैं. पटना से क्रिसमस और न्यू ईयर की पार्टी मनाने दिल्ली, मुंबई या कोलकाता जैसे बड़े महानगरों या गोवा जैसे पसंदीदा स्थलों पर जाने वालों को दो से ढ़ाई गुने के बीच विमान किराया चुकाना होगा. बड़े महानगरों में रहने वाले ऐसे लोगों को जो क्रिसमस की छुट्टियों का फायदा उठा परिवार के साथ नव वर्ष मनाने पटना आना चाहते हैं, उनको भी दो से ढ़ाई गुना कीमत चुकाना होगा क्योंकि पटना वापसी के टिकटों की कीमत भी बढ़ कर दो से ढाई गुनी तक हो गयी है.

इसके अलावा नये टर्मिनल भवन का निर्माण शुरू होने से भी यात्रियों की परेशानी बढ़ेगी. 12 दिसंबर को भूमि पूजन के साथ पटना एयरपोर्ट के एप्रन का निर्माण शुरू हो गया. अप्रैल 2018 से मुख्य टर्मिनल भवन का निर्माण शुरू होना है, जिससे पहले डायवर्जन का निर्माण होगा. कम चौड़े डायवर्जन से हवाई यात्रियों का टर्मिनल भवन में आना जाना मुश्किल भरा होगा. निर्माण कार्यों से उड़नेवाली धूल भी परेशानी का सबब होगी.

पटना एयरपोर्ट पर यात्रियों को मिलेगी इस बड़ी परेशानी से निजात, 7 दिसंबर से नहीं होगी दिक्कत

इससे ऐसे यात्रियों को अधिक परेशानी होगी, जिन्हें श्वास की बीमारी और एलर्जेटिक जुकाम की शिकायत है. पटना एयरपोर्ट पर बनने वाला डायवर्जन स्टेट हैंगर के मुख्य द्वार के पास से शुरू होगा और वर्तमान सेक्यूरिटी पोस्ट के पास से मुड़कर सुलभ शौचालय और मौसम विज्ञान केंद्र के पास से होते हुए पार्किंग के पीछे वाली दीवार के समांनांतर जायेगा. कहीं इसकी चौड़ाई सामान्य होगी तो कहीं उससे कम.

बंद हो जायेगी वर्तमान एक्जिट वे
पूरे निर्माण कार्य के दौरान वर्तमान एक्जिट वे बंद रहेगा. इसके बगल में स्थित वर्तमान आवासीय परिसर भी तोड़ा जायेगा और उस पूरे क्षेत्र में नये भवन का निर्माण होगा.

36 महीने तक रहेगी परेशानी
नये एयरपोर्ट टर्मिनल और उससे जुड़े भवनों के निर्माण में 36 महीने का समय लगेगा. तब तक हवाई यात्रियों की समस्या बनी रहेगी. उनकी परेशानी को कम करने के लिए निर्माण स्थल को चारों तरफ से बड़े बड़े लोहे की चादरों से घेरने की योजना है ताकि कम से कम धूल उड़े. इसके बावजूद धूल को पूरी तरह रोकना संभव नहीं होगा. निर्माण कार्यों से होने वाला शोर भी परेशानी की वजह बनेगा. उच्च रक्तचाप और हृदय रोगों से पीड़ित यात्रियों को इससे बहुत असुविधा होगी.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*