सुपौल में बोले सीएम, अब बिहार के युवाओं को रोजगार के लिए भटकना नहीं पड़ेगा

सुपौल में सीएम नीतीश कुमार

सुपौल (प्रियरंजन कुमार) : सीएम नीतीश कुमार आज सुपौल में थे. सभा को संबोधित करते बोले कि हम बिहार के युवाओं को ऐसा बना देंगे कि उन्हें रोजगार के लिए भटकना नहीं पड़ेगा. इसके लिए हमने कौशल विकास पर पूरा ध्यान दिया है और युवाओं को उनकी क्षमता के हिसाब से रोजगार मुहैया कराया जा सकेगा. मुख्यमंत्री विकास समीक्षा यात्रा के तीसरे चरण के दूसरे दिन सुपौल जिले के राघोपुर प्रखंड के राघोपुर गांव पंचायत के वार्ड संख्या 4 का भ्रमण कर सात निश्चय व अन्य सरकारी योजनाओं के तहत चल रही विकास कार्यों का जायजा लिया.

राघोपुर के सेमराई में आयोजित जनसभा स्थल मंच से मुख्यमंत्री ने रिमोट के जरिये 304 करोड़ रुपये की लागत वाली 198 योजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया. राघोपुर गांव भ्रमण के क्रम में मुख्यमंत्री को ग्रामीणों ने पाग पहनाकर और माला पहनाकर गर्मजोशी से स्वागत किया. गांव भ्रमण के क्रम में मुख्यमंत्री ग्रामीण गली-नाली पक्कीकरण योजना के तहत निर्मित पक्की गली-नाली का उद्घाटन मुख्यमंत्री ने शिलापट्ट का अनावरण कर किया. राघोपुर गांव के अमही टोला में राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल निश्चय योजना अंतर्गत लोक स्वास्थ्य प्रमंडल सुपौल के अधीन निर्मित 36.91 लाख रुपये की लागत से सौर ऊर्जा चलित मिनी जलापूर्ति योजना का उद्घाटन रिबन काटकर एवं शिलापट्ट का अनावरण कर मुख्यमंत्री ने किया.

राघोपुर पंचायत के वार्ड संख्या 4 के महादलित टोला में आंगनबाड़ी केंद्र पर आरोग्य उत्सव के मौके पर लगे स्टॉल का अवलोकन कर पूरी जानकारी मुख्यमंत्री ने ली. राघोपुर में नन्दी जीविका महिला ग्राम संगठन से जुड़ी महिलाओं से मुलाकात कर मुख्यमंत्री ने बाल विवाह और दहेज प्रथा के खिलाफ लोगों को जागृत करने का आग्रह किया. जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इस भीषण ठंड में इतनी बड़ी संख्या में आप सब उपस्थित हुए हैं इसके लिए मैं आपको नमन करता हूं और हृदय से धन्यवाद देता हूं उन्होंने कहा कि हम जब से विकास कार्यों की समीक्षा यात्रा पर निकले हैं कई दिनों से ठंड बढ़ी है लेकिन आज जितना ठंड है ऐसे में आप जिस प्रतिबद्धता और उल्लास के साथ उपस्थित हुए हैं यह हमारे लिए उत्साहवर्धक है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि समीक्षा यात्रा के क्रम में हमने तय किया कि उन स्थल हो और गांव में जरूर जाएंगे जहां विकास यात्रा के क्रम में वर्ष 2009 में गए थे उन्होंने कहा कि 12 जून 2009 को विकास यात्रा के दौरान हम इस स्थान पर आए थे और 2009 के बाद और उसके पहले भी अनेको बार यहां आए हैं इस धरती को मेरा प्रणाम है. मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष 2009 के पहले या उसके बाद हमने जो वचन लिया है उसके अनुरूप काम तेजी से हुआ है और निरंतर हो रहा है 2008 में आई कोसी त्रासदी की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि 3 जिले प्रभावित हुए थे और कौशिक त्रासदी में लाखों लोग बेघर हो गए थे उन्होंने कहा कि हमने राहत कार्य चलाया पर जो संभव था, किया.

मुख्यमंत्री ने कहा कि जितनी भी टेक्नोलॉजी थी उसके माध्यम से एक एक गांव की जानकारी हमने ली. कोशी त्रासदी के दौरान केंद्र से मिले 1010 करोड़ रुपए की सहायता का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कोसी त्रासदी में जिस बड़े पैमाने पर जान माल का नुकसान हुआ था उसे आवाज में केंद्र से सहायता नहीं मिली इसके बावजूद बावजूद इसके हमने इंतजार नहीं किया और विश्व बैंक से कर्ज लेकर हर संभव कोशिश रेड्डी के प्रभावित लोगों को मदद पहुंचाई.

उन्होंने कहा कि एक पेज का काम पूरा हो गया है और दूसरे पेज पर काम जारी है. उन्होंने कहा कि कौशिक को बेहतर बनाने के लिए 3400 करोड रुपए से ज्यादा की योजना पर हम काम कर रहे हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि ढाई सौ तक की आबादी वाले गांवों को को पक्की सड़क से जोड़ने का फैसला लिया गया है और उन सभी बड़े गांव में जो छोटे बड़े वाले हैं, जहां अधिकांश था अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति और पिछड़े समाज के लोग रहते हैं उनको भी पक्की सड़क से जोड़ा जाएगा.

मुख्यमंत्री ने कहा कि जो काम हो रहा है इसके लिए मैं अधिकारियों को बधाई देता हूं. उन्होंने कहा कि बीच के कुछ महीने में मुखिया लोग बहकावे में आ गए थे जिसके कारण विकास का काम कुछ समय के लिए बाधित हो गया था जब कि जबकि गांव में विकास का काम हो रहा है तो इससे मुखिया जी के मुखिया जी की प्रतिष्ठा घटने की बजाय बढ़ेगी ही. उन्होंने कहा कि वार्ड मेंबर भी चुने हुए प्रतिनिधि हैं. बापू के चंपारण सत्याग्रह का चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि सौ साल पहले बापू चंपारण आए थे और हम उसका शताब्दी वर्ष मना रहे हैं. उन्होंने कहा कि जे पी के आंदोलन में भी हम भाग लेते रहे हैं.

मुख्यमंत्री ने कहा कि गांधी और लोहिया कहा करते थे कि विकेंद्रीकृत तरीके से विकास का काम होना चाहिए जिसका फायदा जन जन तक पहुंचेगा. उन्होंने कहा कि वर्ष 2005 के नवंबर माह में जब हमने बिहार की बागडोर संभाली थी, तब 12:30 प्रतिशत बच्चे स्कूलों से बाहर थे, जिसको देखते हुए हमने नए स्कूलों का निर्माण पुराने स्कूलों में कमरों का निर्माण के साथ-साथ मिडिल स्कूलों की घेराबंदी कराई और इसकी जिम्मेदारी स्कूलों के लिए जो शिक्षा समिति है उसको दी.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा चिल्ड्रेन पार्क का उद्घाटन

मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार पहला राज्य है जहां पंचायती राज और नगर निकाय के चुनाव में 50% का आरक्षण दिया गया. जिसका नतीजा है कि 50% से ज्यादा महिलाएं आई जबकि संविधान में एक तिहाई महिलाओं को आरक्षण देने का प्रावधान है लेकिन हमने देखा कि महिलाओं की आधी आबादी है तब इन है 50% का आरक्षण मिलना चाहिए.

बिहार के पूर्व मंत्री शाहिद अली खान के निधन पर CM नीतीश ने जताया शोक

उन्होंने कहा कि पुलिस बहाली में एक तिहाई 35% का आरक्षण महिलाओं को दिया गया. और इस विकास समीक्षा यात्रा के क्रम में जब हम जिलों में जाते हैं तो वहां गार्ड ऑफ ऑनर के दौरान महिला पुलिस से ही सलामी दिलाई जा रही है जो अपने आप में एक बड़ा परिवर्तन है. उन्होंने कहा कि बालिकाओं के लिए पोशाक योजना शुरू किया गया जिसमें कक्षा 1 से लेकर 12वीं तक छात्राओं को पोशाक मुहैया कराया जाता है. उन्होंने कहा कि साइकिल योजना के कारण लोगों की मानसिकता और वातावरण में भी बदलाव आया है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रामीण महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए स्वयं सहायता समूह का गठन किया जा रहा है और अब तक 800000 स्वयं सहायता समूह का गठन हो चुका है जबकि हमारा लक्ष्य 1000000 स्वयं सहायता समूह गठित करने का है. मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वयं सहायता से जुड़ी महिलाएं अब पढ़े लिखे लोगों से भी बैंकों के विषय में ज्यादा जानकारी रखने लगी है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*