विकास समीक्षा यात्रा में बोले सीएम नीतीश – चंपारण से है दिल का रिश्ता

बेतिया (प्रशांत सौरभ) : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि जिस धरती से उन्होंने विकास यात्रा का आरंभ किया था, आज पुनः उस धरती से विकास कार्य की समीक्षा कर रहा हूं. विकास यात्रा के क्रम में जनता दरबार के दौरान मिली व्यापक शिकायतों से प्रेरणा लेकर शिकायतों के निवारण के अधिकार का कानून लागू किया गया, जिसके फलस्वरूप सवा साल की अल्प अवधि में दो लाख से अधिक शिकायतों का निवारण किया गया. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समीक्षा यात्रा के दौरान लौरिया प्रखंड के कटैया गांव में पहुंचे थे. जहां वे एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे.

विकास कार्यों की समीक्षा करते सीएम नीतीश कुमार (चंपारण में)

इसके पूर्व कटैया गांव के वार्ड नंबर 6 में पहुंचकर विकास कार्यों की समीक्षा की, और स्थानीय लोगों से रूबरू हुए. इस दौरान वे सिकंदर राम, लालबहादुर राम, बदरी राम, प्रेमशीला देवी आदि ग्रामीणों के घर गये और सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं जैसे शौचालय, गौशाला, नाला वर्मी कम्पोस्ट का बेड आदि का निरीक्षण किया. इस दौरान मुख्यमंत्री को अपने बीच पाकर ग्रामीण फूले नहीं समा रहे थे. यहां से मुख्यमंत्री सीधे सभा स्थल पहुंचे जहां उन्होंने सभा को संबोधित किया.



सीएम नीतीश कुमार की सभा को सुनती चंपारण की महिलाएं

इस दौरान सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं की चर्चा उन्होंने उनसे की. योजनाओं की सफलता में लोगों के सहयोग का आह्वान किया. उन्होंने कहा कि सरकार का यह संकल्प है कि अगले साल से एक भी घर बिना बिजली का नहीं रहेगा. आने वाले कुछ वर्षों में बिहार भी बड़े शहरों की तरह हर तरह से विकसित होगा, बिहार के विकास के लिए हरसंभव काम किया जा रहा है. प्रत्येक अनुमंडल में एक आईटीआई कॉलेज और हर जिले में महिला आईटीआई कॉलेज खोले जाएंगे.

चंपारण की जनता का अभिवादन करते सीएम नीतीश कुमार

5 नए मेडिकल कॉलेजों की स्थापना होगी. सरकार की महत्वाकांक्षी कुशल युवा योजन के तहत युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए अंग्रेजी बोलने का प्रशिक्षण दिया जा रहा है. साथ ही व्यावहारिक प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है. इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि व्यावहारिक प्रशिक्षण युवाओं के लिए काफी आवश्यक होता है. इस दौरान मुख्यमंत्री ने चयनित छात्रों को स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड, कई महिलाओं को राशन कार्ड दिया. अपने संबोधन के दौरान मुख्यमंत्री ने चंपारण से लगाव के बारे में भी बताया और कहा कि इस धरती ने देश को आजादी दी. इसलिए इस मिट्टी से वे हमेशा प्रेरणा लेते हैं.

शायद इसीलिए अपने हर यात्रा की शुरुआत वे चंपारण से ही करते हैं. चंपारण से उनका दिली लगाव है. मौके पर वाल्मीकि नगर सांसद सतीश चंद्र दुबे, लौरिया विधायक विनय बिहारी, नरकटियागंज विधायक विनय वर्मा, पूर्व विधायक प्रदीप सिंह, बेतिया डीएम निलेश देओर रामचन्द्रन, एसपी विनय कुमार आदि मौजूद रहे. इस क्रम में स्वागत संबोधन जिलाधिकारी निलेश देओर रामचन्द्रन ने किया, और मंच संचालन राज्य साधन सेवी मेरी एडलिन ने किया.

बगहा में CM नीतीश कुमार की सभा में हंगामा, शांत करने में छूटे पुलिस के पसीने

भाषण के मुख्य बिन्दू 

  • सवा साल में 2 लाख से अधिक शिकायतों का हुआ निवारण
  • 40 दिन बाद 21 जनवरी को दहेज और बाल विवाह प्रथा के खिलाफ बनने वाली मानव श्रृंखला में टूटेगा विश्व रिकॉर्ड
  • सरकार के साथ समाज की जागरुकता से होगा नया परिवर्तन
  • पांच नये जिलों में खुलेंगे मेडिकल कॉलेज
  • सभी जिलों में महिला आईटीआई
  • कौशल विकास के तहत हुनर व मैनर का दिया जा रहा प्रशिक्षण
  • अगले साल नहीं होगा एक भी बिजली विहीन घर
  • बड़े शहरौं के चकाचौंध की तरह चमकेगा बिहार