अब फुलवारीशरीफ में नहीं भागलपुर में बनेगी हाई सिक्योरिटी जेल, होंगी ये सुविधाएं

बिहार समाचार , जेल , भागलपुर , फुलवारीशरीफ, Bihar commonmanissues, Bhagalpur, Jail , High security jail , Jail, bihar cabinate

लाइव सिटीज डेस्क : पटना के फुलवारीशरीफ स्थित शिविर मंडल कारा को तोड़कर वहां आतंकियों, माओवादियों व दुर्दांत अपराधियों के सुरक्षित संसीमन के लिए उच्च सुरक्षा वाली जेल (हाइ सिक्युरिटी जेल) के निर्माण के स्वीकृत्यादेश को रद कर दिया गया है. अब उच्च सुरक्षा वाली यह जेल पटना भागलपुर अवस्थित केंद्रीय कारा परिसर में बनेगी. गृह विभाग ने मंगलवार को इस आशय का आदेश जारी कर दिया है.

पहले पटना में होना था निर्माण

बता दें कि विगत फरवरी में राज्य सरकार ने फुलवारीशरीफ स्थित शिविर मंडल कारा को तोड़कर वहां हाई सिक्योरिटी जेल का निर्माण कराने का फैसला लिया था. इसके लिए राज्य सरकार ने 56 करोड़, 72 लाख रुपये की स्वीकृति भी प्रदान कर दी थी. बाद में पाया गया कि शिविर मंडल कारा, फुलवारीशरीफ के निकट घनी आबादी के बढऩे से भविष्य के दृष्टिकोण से उच्च सुरक्षा वाले इस कारा की सुरक्षा को खतरा हो सकता है. ऐसे में सरकार ने इतनी धनराशि से आतंकियों, माओवादियों व दुर्दांत अपराधियों के लिए उच्च सुरक्षा वाले जेल का निर्माण भागलपुर केंद्रीय कारा परिसर के अंदर कराने का फैसला लिया है.

बनेगी हाई सिक्योरिटी जेल

जेल के बाहरी दीवार की ऊंचाई 21 फुट और दूसरी दीवार 14 फुट से ज्यादा ऊंची होगी. इसके बाद 10 फुट की दीवार होगी, जिस पर चार फुट का लोहे का ग्रिल भी लगा होगा. पूरे जेल की निगाहबानी के लिए उच्च क्षमता वाले सीसीटीवी कैमरे लगाये जायेंगे, जो रात में भी साफतौर पर देख सकेंगे. इनमें कैदियों के रहने के लिए जो सेल बनेंगे, उनका लॉकिंग सिस्टम बेहद आधुनिक और मजबूत होगा. इसी में टॉयलेट समेत अन्य सुविधाएं मौजूद होंगी. बाहर से ही कैदियों को खाना देने की भी सुविधा रहेगी, ताकि इन्हें बार-बार बाहर निकालने और सुरक्षित अंदर ले जाने की जहमत नहीं उठानी पड़ी. राशि जारी होने के बाद इसका निर्माण कार्य जल्द ही शुरू हो जायेगा.

सीसीटीवी कैमरे से होगी पूरे जेल की निगाहबानी

पूरे जेल की निगाहबानी के लिए उच्च क्षमता वाले सीसीटीवी कैमरे लगाये जायेंगे, जो रात में भी साफतौर पर देख सकेंगे. इनमें कैदियों के रहने के लिए जो सेल बनेंगे, उनका लॉकिंग सिस्टम बेहद आधुनिक और मजबूत होगा. इसी में टॉयलेट समेत अन्य सुविधाएं मौजूद होंगी. बाहर से ही कैदियों को खाना देने की भी सुविधा रहेगी, ताकि इन्हें बार-बार बाहर निकालने और सुरक्षित अंदर ले जाने की जहमत नहीं उठानी पड़ी. राशि जारी होने के बाद इसका निर्माण कार्य जल्द ही शुरू हो जायेगा.

यह भी पढ़ें : अब पटना से डायरेक्ट उड़िए इलाहाबाद और लखनऊ, 14 जून से शुरू हो रही नई विमान सेवा

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*