सीएम नीतीश के खिलाफ हत्या मामले में हाईकोर्ट में आज होगी सुनवाई, 1991 का है मामला

बिहार, पटना, क्राइम, नीतीश कुमार, हत्या मामला , चुनाव

लाइव सिटीज डेस्क: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के लिए आज मुश्किल वाला दिन है. आज उनपर दर्ज हत्या के मामले को रद्द करने के लिए दायर याचिका पर पटना हाईकोर्ट में सुनवाई की जाएगी. जस्टिस प्रकाश कुमार जयसवाल की एकल पीठ इस मामले पर सुनवाई करेगी. यह मामला 27 साल पुराना है. यह मामला 1991 का है. हत्या का यह मामला बाढ़ से जुड़ा है. 1 सितम्बर 2009 को बाढ़ कोर्ट के तत्कालीन एसीजेएम रंजन कुमार ने इस मामले में तत्कालीन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को दोषी पाते हुए उनपर इस मामले में ट्रायल शुरू करने का आदेश दिया था.

मामला 1991 का है

नवम्बर 1991 में बिहार में हुए लोकसभा के मध्यावधि चुनाव में तब बाढ़ संसदीय क्षेत्र में सीताराम सिंह नाम के एक व्यक्ति की गोली मार कर हत्या कर दी गयी थी. इस मामले को लेकर उस समय ढीबर गांव निवासी अशोक सिंह ने नीतीश कुमार सहित कुछ अन्य लोगों पर हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था. 2009 में बाढ़ कोर्ट के तत्कालीन एसीजेएम रंजन कुमार ने नीतीश कुमार को दोषी पाते हुए उनके खिलाफ ट्रायल शुरू करने का आदेश दिया था.

मतदान केंद्र पर कांग्रेस कार्यकर्ता की हत्या

बाढ़ लोकसभा सीट के लिए 16 नवंबर वर्ष 1991 को हुए उपचुनाव के दौरान एक मतदान केंद्र पर कांग्रेस कार्यकर्ता और ढिबर गांव निवासी सीताराम सिंह की हत्या कर दी गयी थी. सीताराम सिंह की हत्या के मामले में बाढ़ के अपर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत ने पूर्व में नीतीश और दुलारचंद को छोड़कर अन्य तीन आरोपियों के खिलाफ संज्ञान लिया था.

मामले पर अब तक चल रही है सुनवाई

ये मामला बाद में हाईकोर्ट में स्‍थानांतरित हो गया. जिसके बाद ये अब तक हाइकोर्ट में लंबित है. एक वक्त दलील सुनने के बाद कोर्ट ने अपना आदेश सुरक्षित रख लिया था. लेकिन बाद में मामले की फिर से सुनवाई शुरू हुई. जो अभी भी चल रही है. वर्ष 2009 से लेकर अबतक यह मामला हाइकोर्ट में लंबित है. एक समय न्यायाधीश सीमा अली खान ने इस मामले में नीतीश की पैरवी कर रहे उच्चतम न्यायालय के वरिष्ठ अधिवक्ता सुरेंद्र सिंह की दलीलों को सुनने के बाद अपना आदेश सुरक्षित रख लिया था. बाद में फिर से मामले पर सुनवाई शुरू हुई जो अभी भी चल रही है.

यह भी पढ़ें – आर्म्स एक्ट में फंसी मंजू वर्मा पर पटना हाईकोर्ट में फैसला आज, होगी जेल या मिलेगी बेल

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*